बांग्लादेशी हिंदू महिला के खिलाफ चलेगा देशद्रोह का मामला, जानिए क्या थी वजह

Bhasha  |   Updated On : July 21, 2019 05:58:50 AM
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल)

डोनाल्ड ट्रंप (फाइल) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  बांग्लादेशी हिन्दू महिला पर देशद्रोह का मुकदमा
  •  वीडियो में महिला खुद को बांग्लादेशी बता रही है
  •  वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

नई दिल्ली:  

बांग्लादेश की एक हिंदू महिला के खिलाफ देशद्रोह का मामला चलाया जायेगा क्योंकि उसने वाशिंगटन में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से कहा था कि उसके देश में अल्पसंख्यक समुदाय को प्रताड़ित किया जा रहा है. एक मंत्री ने यह जानकारी दी. बांग्लादेश हिंदू बुद्धिस्ट क्रिश्चियन यूनिटी काउंसिल (एचबीसीयूसी) की आयोजन सचिव प्रिया साहा ने 19 जुलाई को व्हाइट हाउस में आयोजित एक बैठक में हिस्सा लिया था. इसके बाद ट्रंप के साथ बैठक का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के कारण उनके अपने देश में काफी विवाद हुआ.

वीडियो में महिला खुद को बांग्लादेशी नागरिक बताती दिख रही हैं और वह अमेरिकी राष्ट्रपति से कहती हैं कि अल्पसंख्यक समुदाय के 3.7 करोड़ लोग बांग्लादेश से लापता हो गये हैं.उनके बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए सड़क परिवहन मंत्री एवं सत्तारूढ़ अवामी लीग के महासचिव ओबैदुल कादर ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने (महिला ने) ‘‘झूठी, जान बूझकर और देशद्रोही टिप्पणी’’ की है.

यह भी पढ़ें- बीएसएफ में शामिल हुए सहायक कमांडेंट के रूप 49 नये अधिकारी, सेना की बढ़ी ताकत

उन्होंने कहा, ‘साहा के बयान बिल्कुल गलत हैं. कोई भी उनसे सहमत नहीं होगा. उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जायेगा. इस संबंध में कार्रवाई चल रही है. हमें निश्चित रूप से उनके खिलाफ कदम उठाना चाहिए और हम इस प्रक्रिया में आगे बढ़ रहे हैं... क्योंकि एक बांग्लादेशी नागरिक होने के बावजूद उन्होंने झूठी, जान बूझकर, देशद्रोही टिप्पणी की.’ साहा उन पांच बांग्लादेशियों और दो रोहिंग्या शरणार्थियों में से एक थीं जिन्हें ढाका में अमेरिकी दूतावास ने व्हाइट हाउस भेजा था.

यह भी पढ़ें- शीला दीक्षित को था फुटवेयर और पश्चिमी संगीत का शौक

First Published: Jul 20, 2019 11:48:53 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो