BREAKING NEWS
  • Indian Railway: दिवाली और छठ के लिए नहीं मिला कन्फर्म टिकट तो घबराएं नहीं, इन नई ट्रेनों में करा सकते हैं रिजर्वेशन- Read More »
  • अकाल तख्त (Akal Takht) प्रमुख बोले- बैन हो आरएसएस मोहन भागवत (RSS Chief Mohan Bhagwat) का बयान देशहित में नहीं- Read More »
  • बिहार : डेंगू के मरीजों को देखने गए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर दो युवकों ने फेंकी स्याही, देखें VIDEO- Read More »

EXCLUSIVE: सनी देओल और गौतम गंभीर के BJP में शामिल होने पर सुब्रमण्यम स्वामी ने कहीं ये बात

News State Bureau  |   Updated On : April 24, 2019 02:40:47 PM

नई दिल्ली:  

देश में तीसरे चरण के चुनाव हो चुके है लेकिन सियासी माहौल अभी भी गर्माया हु्आ है. हर विपक्षी पार्टीयां लगातार एक-दूसरे पर बयानबाजी करती हुई नजर आ रही है. वहीं  बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी न्यूज नेशन से बातचीत के दौरान कांग्रेस पर निशाना साधा. इसके साथ ही उन्होंने हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए क्रिकेटर गौतम गंभीर और अभिनेता सनी देओल पर भी अपनी बेबाक राय रखी.

फेल प्रियंका, काशी से नहीं हो सकेगी पास

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि प्रियंका गांधी का भारतीय राजनीति में कोई योगदान नहीं है, ना ही उनके पास परिवार के अलावा कोई अनुभव है. वह कॉलेज में हिंदी में पास नहीं हो पाई, तो भारतीय राजनीति और बनारस में कैसे पास हो पाएगी ?

बीजेपी के पैराशूट उम्मीदवार लोकप्रिय, धीरे-धीरे सीख जाएंगे राजनीति

बीजेपी नेता स्वामी ने कहा, 'यह ठीक है कि सनी देओल और गौतम गंभीर का राजनीति का कोई अनुभव नहीं है, ना ही उन्होंने जमीनी स्तर पर बीजेपी के अंदर काम किया है, पर यह सभी पैराशूट उम्मीदवार बहुत लोकप्रिय है और लोकतंत्र में लोकप्रिय होने से जीत मिलती है. जहां तक राजनीति सीखने की बात है, जैसे राज्यसभा और लोकसभा का सांसद रहते हुए हेमा मालिनी ने राजनीति सीख ली, वैसे ही ये सभी नेता भी सीख लेंगे.'

ये भी पढ़ें: सुब्रमण्यम स्वामी का बड़ा बयान, सपा-बसपा के महागठबंधन की ड्राइविंग सीट पर बैठी हैं मायावती

सरकार में रहने पर विपक्ष, ईवीएम पर रहता था खामोश

ईवीएम के सवाल पर  सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, 'जो विपक्षी दल आज चुनाव के नतीजे आने से पहले ही ईवीएम ईवीएम चिल्ला रहे हैं, वह सरकार में रहते हुए इसे दुरुस्त बताते थे. जब मैंने सर्वोच्च न्यायालय में ईवीएम के खिलाफ केस किया और यह कहा कि बिना वीवीपैट के इस में धांधली हो सकती है. तब कोर्ट के आदेश पर 5 साल की अवधि में सभी ईवीएम मशीनों को वीवीपैट के साथ जोड़ा गया. उस वक्त कांग्रेस सत्ता में थी और उनकी नजर में भी ठीक था,आज विपक्ष को इसी में धांधली नजर आने लगी है'

First Published: Apr 24, 2019 02:07:27 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो