BREAKING NEWS
  • बिहार के गौतम बने 'KBC 11' के तीसरे करोड़पति, कहा-पत्नी की वजह से मिला मुकाम- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »
  • IND vs SA, Live Cricket Score, 1st Test Day 1: भारत ने टॉस जीता पहले बल्‍लेबाजी- Read More »

गौरी लंकेश की हत्या के आरोपियों के करीब पहुंची पुलिस, बेंगलुरू SIT ने दो मुख्य संदिग्धों के जारी किए स्केच

News State Bureau  |   Updated On : October 14, 2017 08:11:32 PM

ख़ास बातें

  •  बेंगलुरू में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के पीछे शामिल संदिग्ध की पहचान कर ली गई है
  •  एसआईटी ने आज लंकेश की हत्या में शामिल दो संदिग्धों का स्केच जारी कर दिया है
  •   एसआईटी ने कहा मामले में शामिल दो मुख्य संदिग्धों की पहचान कर ली गई है

नई दिल्ली :  

बेंगलुरू में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के पीछे शामिल संदिग्ध की पहचान कर ली गई है।

पुलिस महानिरीक्षक बी के सिंह की अगुवाई बनी एसआईटी ने आज लंकेश की हत्या में शामिल दो मुख्य संदिग्धों का स्केच जारी करते हुए लोगों से मदद की अपील की है। एसआईटी ने हत्यारों के सीसीटीवी फुटेज को भी जारी किया है।

एसआईटी ने कहा मामले में शामिल दो मुख्य संदिग्धों की पहचान कर ली गई है।

दो संदिग्धों के तीन स्केच जारी किए जाने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा, 'हत्या मामले में दो संदिग्धों के स्केच जारी किए गए हैं। स्केच इसलिए समान लग रहे हैं क्योंकि अलग-अगल चश्मदीदों के आधार पर दो आर्टिस्ट्स ने इन्हें तैयार किया है।'

सिंह ने कहा, 'अभी तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि गौरी लंकेश और एम एम कलबुर्गी की हत्या में एक ही हथियार का इस्तेमाल किया गया।'

उन्होंने कहा कि इस मामले में 200-250 लोगों से पूछताछ की गई। सिंह ने कहा कि शक्ल के आधार पर किसी संदिग्ध के धार्मिक पहचान को तय नहीं किया जा सकता क्योंकि यह जांच को गुमराह कर सकता है।

सिंह ने इस मामले में सनातन संस्था की भूमिका को भी खारिज किया। उन्होंने कहा, 'सनातन संस्था के बारे में मीडिया ने खबर फैलाई है। हमारी तरफ से अभी तक इस मामले में किसी संस्था के हाथ होने की खबर नहीं है।'

एसआईटी ने कहा कि दोनों संदिग्ध स्थानीय निवासी है और चश्मदीदों के आधार पर इनके स्केच को तैयार किया गया है।

और पढ़ें: गौरी लंकेश हत्या में संघ का नाम घसीटने से राहुल और येचुरी के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज

लोकप्रिय कन्नड़ साप्ताहिक पत्रिका 'लंकेश पत्रिके' की संपादक गौरी लंकेश (55) की मंगलवार की रात अज्ञात हमलावरों ने उनके घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

लंकेश की हत्या के बाद राज्य सरकार ने मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था, जिसने हत्यारों का पता लगाने के लिए गुरुवार को जनता से जानकारी मांगी थी।

इससे पहले कर्नाटक के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने कहा था कि पत्रकार-सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या की जांच कर रहे जांच दल को हत्यारों के बारे में कुछ सुराग मिला है और यह पता चल गया है कि इसके पीछे कौन लोग थे। लेकिन इस बारे में और ठोस सबूत जुटाए जा रहे हैं।

और पढ़ें: गौरी लंकेश के हत्यारों का सुराग मिला: कर्नाटक के गृह मंत्री

First Published: Oct 14, 2017 11:28:06 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो