अटल बिहारी वाजपेयी से लेकर BJP के 3 बड़े दिग्गज नेताओं का अगस्त में हुआ निधन

सुनील मिश्र  |   Updated On : August 24, 2019 08:38:05 PM
अगस्‍त में वाजपेयी, सुषमा और बाबूलाल गौड़ के बाद अब जेटली का निधन

अगस्‍त में वाजपेयी, सुषमा और बाबूलाल गौड़ के बाद अब जेटली का निधन (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

भारतीय जनता पार्टी के लिए अगस्‍त का महीना अशुभ साबित होता जा रहा है. पिछले साल 16 अगस्‍त को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया था. वे लंबे समय से बीमारी से पीड़ित थे. इस साल अगस्‍त के पहले ही हफ्ते में सुषमा स्‍वराज का निधन हो गया था. कार्डियक अरेस्‍ट के बाद उन्‍हें एम्‍स ले जाया गया था. 21 अगस्‍त को मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन हो गया. वे भी लंबे समय से अस्‍पताल में भर्ती थे. अब 24 अगस्‍त को अरुण जेटली का निधन हो गया है.

अटल बिहारी वाजपेयी
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद 16 अगस्‍त 2018 को निधन हो गया था. तब वे 93 साल के थे. एम्स के मुताबिक उनका निधन शाम 5:05 बजे हुआ. अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर केंद्र सरकार ने सात दिनों का राष्ट्रीय शोक घोषित किया था. अटल बिहारी वाजपेयी की मौत पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा था, 'मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है. हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे. अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था. उनका जाना, एक युग का अंत है.'

सुषमा स्‍वराज
इसी साल 6 अगस्‍त को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज का निधन हो गया था. हार्ट अटैक के बाद उन्‍हें एम्स में भर्ती कराया गया था. सुषमा स्वराज मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री थीं. उन्होंने अपने कार्यकाल से सबको प्रभावित किया था. 2019 का लोकसभा चुनाव उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से नहीं लड़ा था.1970 में वो सक्रिय राजनीति में आईं और पहली बार 1977 में सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनीं थीं. 67 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया. सुषमा स्वराज को लंबे समय से डाइबिटिज थी. बाद में उनकी किडनी भी फेल हो गई थी. सुषमा स्वराज की किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था.

बाबूलाल गौर
मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबूलाल गौर (89) का अगस्‍त महीने की 21 तारीख को सुबह निधन हो गया. पिछले 7 अगस्‍त को तबीयत खराब होने के बाद उन्हें भोपाल के नर्मदा अस्पताल में आईसीयू में भर्ती कराया गया था. वे फेफड़ों में इन्फेक्शन से पीड़ित थे. अस्‍पताल में उन्‍हें कई दिनों से वेंटिलेटर पर रखा गया था. डॉक्‍टरों ने उन्‍हें निमोनिया होने की भी पुष्‍टि की थी. बाबूलाल गौर 27 जुलाई को ही गुरुग्राम के निजी अस्पताल से हार्ट का इलाज कराकर वापस लौटे थे. भर्ती होने के बाद से ही बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता बाबुलाल गौर के स्वास्थ्य में कोई सुधार दर्ज नहीं किया जा रहा था.

अरुण जेटली
अब 24 अगस्‍त को बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का निधन हो गया. शनिवार को 66 वर्षीय अरुण जेटली ने दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली. अरुण जेटली को सांस में तकलीफ के चलते 9 अगस्त को एम्स में भर्ती करवाया गया था. अरुण जेटली डॉक्टरों की एक टीम की निगरानी में थे. उनका हालचाल लेने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू, पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के अलावा बीजेपी के कई दिग्गज नेता एम्स पहुंचे थे. विपक्षी दलों के भी कई नेता एम्‍स पहुंचे थे.

First Published: Aug 24, 2019 03:21:27 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो