BREAKING NEWS
  • कमलेश तिवारी हत्याकांड: अखिलेश बोले- योगी ने ऐसा ठोकना सिखाया कि किसी को पता नहीं कि किसे ठोकना है- Read More »

सैन्य प्रमुख विपिन रावत ने पाकिस्तान को लताड़ा, कहा टकराव होगा कहीं विध्वंसक और कल्पना से परे

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 04:39:58 PM
सैन्य प्रमुख जनरल बिपिन रावत

सैन्य प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  सेना प्रमुख ने पाकिस्तान को दी दुस्साहस से बाज आने की चेतावनी.
  •  कहा, भविष्य के टकराव कहीं विध्वंसक और कल्पना से परे.
  •  डेमचोक में चीनी घुसपैठ से किया इंकार. समझाई हकीकत.

नई दिल्ली.:  

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि किसी भी तरह के दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. भविष्य को लेकर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि भविष्य के टकराव कहीं अधिक घातक और कल्पना से परे होंगे. इनमें साइबर तकनीक ओर डोमेन की महती भूमिका होगी. जनरल रावत कारगिल विजय दिवस की बरसी पर आयोजित 'कारगिल युद्द के 20 साल बाद' कार्यक्रम में बोल रहे थे.

यह भी पढ़ेंः कंगाल पाकिस्‍तान में ये क्‍या हो रहा है? आम आदमी से लेकर बिजनेसमैन तक सभी सड़कों पर

पाकिस्तान को दो टूक चेतावनी
उन्होंने कहा, 'पाकिस्तानी सेना समय-समय पर दुस्साहस करती रहती है. कभी छद्म युद्धों के जरिए तो कभी राज्य पोषित आतंकवाद या घुसपैठ के जरिए. भारतीय सेना अपने इलाके की रक्षा के लिए कृतसंकल्पित है. किसी को कोई शक नहीं होना चाहिए और अच्छे से समझना चाहिए कि किसी भी तरह के दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.' माना जा रहा है कि सेना प्रमुख ने पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में बालाकोट एयर स्ट्राइक का परोक्ष जिक्र करते हुए पाकिस्तान को नए सिरे से चेतावनी जारी की है.

यह भी पढ़ेंः बिजली बिल को लेकर मोदी सरकार जल्‍द ले सकती है बड़ा फैसला, पढ़ें यह जरूरी खबर

भविष्य के टकराव कहीं हिंसक और विध्वंसक
भविष्य को जटिल औऱ कहीं विध्वंसक बताते हुए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने चिंता भी जाहिर की. उन्होंने कहा कि भविष्य के टकराव कहीं ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे. ऐसे में सेना को हर तरह के युद्ध (मल्टी स्पेक्ट्रम वार) के लिए तैयार रहना चाहिए. राज्य प्रायोजित आतंकी संगठनों और तकनीक के बढ़ते दबाव ने युद्ध के हालात बदल दिए हैं. साइबर दुनिया और अंतरिक्ष आज युद्ध में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं. यह युद्ध से अभिन्न रूप से जुड़ चुका है.

यह भी पढ़ेंः दलित से साक्षी की शादी का समर्थन करने वालों पर हरदोई के विधायक ने की ऐसी आपत्तिजनक टिप्पणी

डेमचोक में कोई घुसपैठ नहीं हुई
इस कार्यक्रम से इतर एक सवाल के जवाब में सेना प्रमुख ने शनिवार को कहा कि लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में चीन ने कोई घुसपैठ नहीं की है. उन्होंने कहा, 'कोई घुसपैठ नहीं हुई है.' उनका यह बयान उन मीडिया रिपोर्टों के बीच आया है जिसमें कहा गया था कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने छह जुलाई को दलाई लामा के जन्मदिवस के मौके पर कुछ तिब्बतियों द्वारा तिब्बती झंडे फहराए जाने के बाद पिछले सप्ताह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलओएसी) पार की.

यह भी पढ़ेंः अगर आज रात को आप रेलवे रिजर्वेशन कराने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए ही है

चीनी सीमा पर स्थिति सामान्य
सैन्य प्रमुख ने कहा, 'चीनी अपनी मानी जाने वाली वास्तविक नियंत्रण रेखा पर आते हैं और गश्त करते हैं... हम उन्हें रोकते हैं. कई बार स्थानीय स्तर पर जश्न समारोह होते हैं. डेमचोक सेक्टर में हमारी सेना के जवान ओर तिब्बती जश्न मना रहे थे. इसके आधार पर, कुछ चीनी यह देखने आए कि क्या हो रहा है, लेकिन कोई घुसपैठ नहीं हुई। सब सामान्य है.'

First Published: Jul 13, 2019 04:28:50 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो