अहमदाबाद: डोनाल्ड के दौरे से पहले स्लम इलाके सामने 7 फीट ऊंची दीवार, जानिए ये है वजह

News State Bureau  |   Updated On : February 13, 2020 06:34:26 PM
मोदी के साथ ट्रंप

मोदी के साथ ट्रंप (Photo Credit : फाइल )

नई दिल्ली:  

गुजरात के अहमदाबाद में नगर निगम स्लम इलाके को ढंकने के लिए एक 7 फीट ऊंची दीवार उठा रहा है. आपको बता दें कि नगर निगम ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहले यह दीवार उठाने का काम शुरू किया है. अहमदाबाद नगर निगम ने सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ बगल वाले स्लम इलाके को छुपाने के लिए एक 7 फीट ऊंची दीवार खड़ी कर रहा है ताकि इस दीवार के पीछे का स्लम इलाका अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नजरों में न आए आपको बता दें कि गुजरात नगर निगम गुजरात को बहुत समृद्ध दिखाने के लिए ये काम कर रहा है. आपको बता दें कि आगामी 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अहमदाबाद आने वाले हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति के अहमदाबाद दौरे से पहले वहां के उस इलाके को पूरी तरह से चमका दिया जाएगा जहां पर वो पीएम मोदी के साथ रोड शो करेंगे. आपको बता दें कि यह इलाका जहां पर 500 से भी ज्यादा झुग्गियां हैं वहां पर नगर निगम ने 7 फीट ऊंची दीवार उठा रहा है ताकि इस रोड शो के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति की निगाहें इन झुग्गियों पर न पड़े.

यह भी पढ़ें-अमित शाह नई दिल्ली में बिम्सटेक सहयोगी देशों के सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे

अहमदाबाद नगर निगम के एक अधिकारी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि, एयर पोर्ट वाली सड़क से लगभग 700 मीटर की दूरी पर स्थित स्लम क्षेत्र को कवर करने के लिए नगर निगम लगभग 7 फीट ऊंची दीवार खड़ी करने जा रहा है. यहां पर नगर निगम पौधे लगाने का कार्यक्रम भी करेगा ताकि यह इलाका हरा-भरा दिखाई दे सके दशकों पुराने देव सरन या सरनियावास स्लम एरिया में लगभग 500 से भी ज्यादा झुग्गियां हैं और यहां पर लगभग 2500 लोग रहते हैं.

यह भी पढ़ें-भाजपा को नीतीश की ‘‘कुछ कमजोरियां’’ पता है , इसलिए उन्हें अपनी धुन पर नचा रही : गोहिल

अहमदाबाद नगर निगम के सौंदर्यीकरण अभियान के तहत साबरमती रिवरफ्रंट पर स्ट्रेच इलाके में खजूर के पौधे भी लगाए जा रहे हैं. आपको बता दें कि इसके पहले साल 2017 में भी जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के दो दिवसीय दौरे से पहले ऐसा ही सौंदर्यीकरण अभियान चलाया गया था. उस समय जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 12वें भारत-जापान वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए भारत के दौरे पर आए थे.

First Published: Feb 13, 2020 05:56:36 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो