BREAKING NEWS
  • हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाएंगी मायावती, बड़ी तादाद में समर्थक भी करेंगे धर्म परिवर्तन- Read More »
  • जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने ट्रक ड्राइवर की गोली मार की हत्या, सर्च अभियान जारी- Read More »
  • पाकिस्तान ने भारत को दहलाने की रची बड़ी साजिश, लश्कर समेत 3 बड़े आतंकी संगठन को सौंपा ये काम- Read More »

एनआईए का बड़ा खुलासा, पुलवामा अटैक के बाद जैश इन शहरों को दहलाने की रची थी साजिश

आईएनएस  |   Updated On : September 17, 2019 06:39:30 AM
आतंकवादी मसूद अजहर (फाइल फोटो)

आतंकवादी मसूद अजहर (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद(जेईएम) दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई जगहों पर 14 फरवरी के पुलवामा हमले की तरह ही 'फिदायीन' हमलों की साजिश रच रहा था. राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने सोमवार को अपने आरोपपत्र में यह खुलासा किया. जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे.

यहां की एक विशेष अदालत के समक्ष दायर याचिका में, एनआईए ने जेईएम के चार आतंकवादियों के नाम लिए जो पुलवामा हमले की साजिश में शामिल थे. इन आतंकवादियों के नाम सज्जाद अहमद खान(27), तनवीर अहमद गनी(29), बिलाल अहमद मीर(23), मुजफ्फर अहमद भट्ट(25)हैं। सभी पुलवामा के निवासी हैं.

इसे भी पढ़ें:PMO ने बतायी पीके मिश्रा, अजीत डोभाल, और पीके सिन्‍हा की जिम्मेदारियां

एजेंसी के अनुसार, उसने मामले में 15 मार्च को एक केस दर्ज किया था जोकि वरिष्ठ जेईएम कमांडरों द्वारा दिल्ली-एनसीआर समेत भारत के अन्य हिस्सों में आतंकी साजिश रचने के संबंध में कुछ जानकारियों पर आधारित था.

एजेंसी ने कहा, 'जांच से पता चला है कि आरोपी व्यक्ति आतंकी संगठन जेईएम के सदस्य हैं और वे लोग आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे. साथ ही अपने संगठन की गतिविधि का प्रचार कर रहे थे.'
एजेंसी ने कहा कि मारा गया जेईएम का आतंकवादी मुदस्सिर अहमद खान साजिश का मास्टरमाइंड था और वह पुलवामा हमले के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक था.

एनआईए ने कहा, 'क्योंकि मुदस्सिर जम्मू एवं कश्मीर में त्राल शहर के पिंगलिश गांव में 9-10 मार्च की मध्यरात्रि को सुरक्षाबलों के हाथों मारा गया, उसके खिलाफ आरोपों को हटा दिया गया है.'

एजेंसी ने कहा, 'सज्जाद और मुजफ्फर, मुदिस्सर के सीधे संपर्क में था, जबकि तनवीर और बिलाल मुदिस्सर के जरिए सज्जाद के संपर्क में था.तनवीर और बिलाल पुलवामा हमले की तरह ही फिदायीन हमले करना चाहते थे.'

और पढ़ें:महिला ने नींद में निगल ली अपनी सगाई की अंगूठी, दास्तां सुनकर आप हो जाएंगे हैरान

एनआईए ने कहा कि तनवीर और बिलाल (सज्जाद का बड़ा भाई) जेईएम का सक्रिय आतंकवादी था. दोनों सुरक्षाबलों के साथ दो अलग-अलग मुठभेड़ में मारे गए.

एजेंसी ने कहा कि मुजफ्फर को जेईएम में शामिल होने के बाद दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र की टोह लेने के लिए कहा गया था.
एनआईए ने कहा, 'पूछताछ के दौरान मुजफ्फर के पास दो विस्फोटक बरामद किए गए. अन्य आरोपियों के खिलाफ आगे की जांच सीआरपीसी की धारा 173(8) के तहत की जा रही है.'

First Published: Sep 16, 2019 09:33:17 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो