केरल में मौत की बारिश जारी, मदद और बचाव की गुहार लगा रहे है हजारों लोग

हजारों लोग, खासतौर पर पथानमथिट्टा में और एर्नाकुलम और त्रिशूर के हिस्सों में बाढ़ में फंसे हुए हैं और उनके लिए राहत व बचाव में लगे बचावकर्ता भारी बारिश से जूझ रहे हैं।

  |   Updated On : August 16, 2018 11:32 PM
केरल में बाढ़ से हालत गंभीर

केरल में बाढ़ से हालत गंभीर

नई दिल्ली:  

केरल में बारिश और बाढ़ ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है। हजारों लोग, खासतौर पर पथानमथिट्टा में और एर्नाकुलम और त्रिशूर के हिस्सों में बाढ़ में फंसे हुए हैं और उनके लिए राहत व बचाव में लगे बचावकर्ता भारी बारिश से जूझ रहे हैं। बाढ़ से मरने वालों की संख्या 94 तक पहुंच चुकी है जबकि 11 लोग लापता हैं और 41 बुरी तरह घायल हैं। अब तक 1,65,538 लोगों को 1155 राहत कैंप में पहुंचाया गया है 2857 घर तबाह हो चुके हैं जबकि 3393 हेक्टेयर फसलों का नुकसान अभी तक हो चुका है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे बुरी तरह प्रभावित पथानमथिट्टा के दक्षिण जिलों में सैकड़ों लोग अपने घरों की छतों पर शरण लिए हुए हैं। पानी में डूबे इन स्थानों से लोगों को हवाईजहाज या हेलीकाप्टर के जरिए निकालने के प्रयास अभी तक विफल रहे हैं।

एक व्यक्ति ने बताया, 'मेरी 90 साल की सास, कैंसर की मरीज भाभी और दूसरे संबंधी खतरनाक स्थिति में रह रहे हैं क्योंकि तिरुवल्ला के पास उनके घर के बाहर ही नहीं, अंदर भी पानी बढ़ रहा है।'

और पढ़ें: सीएम पिनराई विजयन ने कहा बाढ़ से राज्य की हालत बेहद गंभीर, पीएम को फोन पर दी जानकारी, अब तक 79 लोगों की मौत

उन्होंने कहा, 'जब हमने अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कहा कि वे असहाय हैं क्योंकि नावें उपलब्ध नहीं हैं।'

चेंगन्नूर से माकपा के विधायक साजी चेरियन ने कहा, 'सैकड़ों लोग व्यग्रता से निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं और उन्हें सिर्फ हवाई परिवहन के जरिए निकाला जा सकता है। अगर जल्द कुछ नहीं किया गया तो स्थिति बहुत गंभीर हो सकती है।' राज्य में टीवी चैनल मदद मांग कर रहे लोगों की सजीव तस्वीरें प्रसारित कर रहे हैं।

एक परिवार ने गुरुवार को एक टीवी चैनल से कहा, 'हम चेंगन्नूर के पास अपने दो मंजिला इमारत की छत पर खड़े हैं और बीती शाम से हमसे कहा जा रहा है कि हमें जल्द ही बचाया जाएगा। यदि हमारे पास एक घंटे में मदद नहीं पहुंची तो हम जीवित नहीं बचेंगे क्योंकि जलस्तर डरावने ढंग से तेजी से बढ़ रहा है।'

और पढ़ें: केरल में बारिश और बाढ़ से मरने वालों की संख्या 94 हुई, 1.65 लाख राहत शिविरों में

इडुक्की जिले के बांध से छोड़े गए जल के पेरियार नदी व दूसरी सहायक नदियों में पहुंचने के बाद इसी तरह के हालात मध्य केरल के अलुवा व चलकुडी में भी हैं। एर्नाकुलम के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राहुल आर.नायर ने कहा कि सैकड़ों लोगों को मदद की जरूरत है।

नायर ने कहा कि नावों की कमी सबसे बड़ी समस्या है। एर्नाकुलम से त्रिशूर को जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग भी बंद हो गया है क्योंकि कई इलाकों में अब मुख्य मार्गो पर पानी भर गया है।

इस बीच, विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने कहा कि समय निकलता जा रहा है। बड़ी संख्या में सेना के बचावकर्ताओं की तैनाती की जरूरत है।

First Published: Thursday, August 16, 2018 11:15 PM

RELATED TAG: Kerala Rains, Kerala Rains Updates, Kerala Floods,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो