कोलकाता में 1000 दुकानों वाली इमारत में भीषण आग, दशहरा का सामान लाए दुकानदारों के दुकान जलकर राख

कोलकाता के भीड़भाड़ वाले बागड़ी मार्केट में रविवार को तड़के करीब 1000 दुकानों वाली एक बहुमंजिला इमारत में भयंकर आग गई। इमारत में कई जगहों पर दरारें दिख रही हैं।

  |   Updated On : September 16, 2018 05:31 PM
कोलकाता के बागड़ी मार्केट में लगी आग (फोटो : IANS)

कोलकाता के बागड़ी मार्केट में लगी आग (फोटो : IANS)

कोलकाता:  

कोलकाता के भीड़भाड़ वाले बागड़ी मार्केट में रविवार को तड़के करीब 1000 दुकानों वाली एक बहुमंजिला इमारत में भयंकर आग गई। दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फिलहाल इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है लेकिन नौ घंटे बाद भी आग बाजार में तेजी से फैल रही है। यह बाजार भारतीय रिजर्व बैंक के कार्यालय और राइटर्स बिल्डिंग से महज एक किलोमीटर दूर है। आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 30 गाड़ियों को लगाया गया है। इमारत में मुख्यत: कॉस्मेटिक्स और खिलौने की दुकानें हैं।

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'भीड़भाड़ वाला इलाका होने के कारण हमें काम में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हम इमारत में घुसने के लिए दरवाजों और छोटी खिड़कियों की ग्रिल काट रहे हैं और इसके लिए हाइड्रॉलिक सीढ़ी और गैस कटर का इस्तेमाल कर रहे हैं।'

उन्होंने बताया कि कैनिंग स्ट्रीट पर इमारत के भूतल में आग लगी और अन्य मंजिलों तक तेजी से फैल गई। उन्होंने बताया कि इमारत में दरारें दिख रही हैं।

उन्होंने कहा, 'नौ घंटे बाद भी आग बुझाना मुश्किल हो रहा है। आग लगने के कारण का पता लगाने के लिए फॉरेंसिक की एक टीम घटनास्थल का मुआयना करेगी। इमारत में भारी मात्रा में ज्वलनशील पदार्थ होने के कारण आग तेजी से फैली।'

रिपोर्ट के अनुसार, इमारत की ऊपरी मंजिल पर रह रहे लोग आग लगने के तुरंत बाद बाहर निकल आए। आग फैलने की आशंका के कारण आसपास की इमारतों से भी लोगों को बाहर निकाला गया है।

कुछ नाराज दुकानदारों ने आरोप लगाया कि दमकल अधिकारियों ने अभियान शुरू करने में देरी की। कुछ को जबरन इमारत में घुसने की कोशिश करते हुए भी देखा गया लेकिन दमकल विभाग के अधिकारियों ने उन्हें रोक दिया। गुस्साये व्यापारियों ने आरोप लगाया कि लगभग 10 घंटे बीत जाने के बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका है।

एक दुकानदार अनिल मेहता ने कहा, 'दुर्गा पूजा से कुछ समय पहले इस आग में मैंने सब कुछ खो दिया। गोदाम के साथ मेरी दुकान भी जलकर खाक हो गई।'

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और कोलकाता आपदा मोचन समूह (डीएमजी) के अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे महापौर सोवन चटर्जी ने पत्रकारों से कहा कि दुकानदारों ने चेतावनियों के बावजूद अग्नि-सुरक्षा उपकरण नहीं लगाए थे।

और पढ़ें : बिहार के बाद असम में भी आया मॉब लिंचिंग का मामला, चोरी के शक में भीड़ ने पीट कर की हत्या

उन्होंने कहा, 'हम कई बार बागड़ी मार्किट में गए और दुकानदारों से ऐसी घटनाओं के खिलाफ एहतियाती कदम उठाने के लिए कहा था। दमकल विभाग ने भी सुरक्षा उपायों की सिफारिश की थी लेकिन ऐसे कोई कदम नहीं उठाए गए।'

उन्होंने कहा, 'अगर समय पर सुरक्षा उपाय किए होते तो हादसे से बचा जा सकता था। आग लगने के लिए मार्किट के अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। अभी तक हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं लेकिन सड़क पर बहुत संख्या में इमारत होने के कारण आग बुझाने का अभियान बहुत कठिन है।'

और पढ़ें : बिहार के मेडिकल कॉलेज में दुर्गा बनी छात्रा, डॉक्टर की काली तरतूत का ऐसे उतारा भूत, देखें वीडियो

आग के कारण इलाके में यातायात पाबंदियां लगाई गई हैं। कोलकाता यातायात पुलिस विभाग ने ट्वीट कर कहा, 'आग लगने की घटना के कारण एमजी रोड और पोद्दार कोर्ट के बीच, रबिंद्र सराणी और ब्राबोर्न रोड और रबिंद्र सारणी के बीच कैनिंग स्ट्रीट पर वाहनों की आवाजाही बंद है।'

First Published: Sunday, September 16, 2018 05:14 PM

RELATED TAG: West Bengal, Fire, Kolkata, Bagree Market, Kolkata Fire, Mamata Banerjee, Fire Brigade,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो