BREAKING NEWS
  • Pulwama Attack : जावेद अख्तर ने दिया पाक टीवी एंकर को ऐसा जवाब कि पलट कर नहीं पूछा सवाल- Read More »
  • सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान भारत पहुंचे, पीएम मोदी ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत- Read More »
  • Kumbh Mela2019 : माघी पूर्णिमा के दिन 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने लगाई संगम में डुबकी, तस्वीरें देखें- Read More »

स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी के मानसरोवर यात्रा पर कसा तंज, कहा- ये भक्ति का मार्ग नहीं है, बल्कि राजनीतिक सशक्तिकरण की कोशिश है

News State Bureau  |   Updated On : September 07, 2018 09:06 PM
स्मृति ईरानी (फोटो-ANI)

स्मृति ईरानी (फोटो-ANI)

नई दिल्ली:  

अपने एक दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी ने कांग्रेस को उसके ही गढ़ में जाकर ललकारा है। मीडिया से बातचीत करते हुए स्मृति ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मानसरोवर यात्रा पर तंज कसते हुए कहा कि आस्था को कभी प्रमाणकिता की जरूरत नहीं पड़ती है, अस्था भगवान के द्वार पर ईश्वर और भक्त के बीच का संबंध होता है। न भगवान सार्टिफिकेट मांगता है न भक्त सार्टिफिकेट मांगता है। जो आज प्रमाण दे रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि ये भक्ति का मार्ग नहीं है, बल्कि राजनीतिक सशक्तिकरण का एक प्रयास है।

अमेठी के जायस में स्थित राजीव गांधी पेट्रोलियम संस्थान में उन्होंने ये भी कहा, 'कांग्रेस के मुखिया सिद्धू साहब (नवजोत सिंह सिद्धू) के पाकिस्तान के दौरे पर चुप्पी साध रखी है। एक तरफ सिद्धू पाकिस्तान जाकर जनरल बाजवा के गले लगते हैं जो भारत के खिलाफ आज जहर उगल रहे है तो दूसरी तरफ मणिशंकर अय्यर जिनकी सदस्यता को ख़ारिज करने का ढोंग राहुल जी ने गुजरात के चुनाव में रचा था।

और पढ़ें: मोदी सरकार के इस मंत्री ने की आरक्षण बढ़ाने की मांग, कहा- 25% सवर्णों को मिले आरक्षण

ईरानी ने कहा कि राहुल गांधी का चीन के साथ सम्बंध अपने आप में इस बात को दर्शाता है के कांग्रेस भारत के पक्ष में कम चिंता करती है, विदेशी ताकतों की चिंता ज्यादा करती है।

बता दें कि केंद्रीय वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने 1 सितंबर शनिवार को अमेठी में एक 'डिजिटल गांव' का उद्घाटन किया था। अमेठी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का संसदीय क्षेत्र है। जिला अधिकारियों और बीजेपी नेताओं के साथ पहुंची स्मृति ने पिंडारा ठाकुर गांव में सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सामान्य सेवा केंद्र में डिजिटल गांव का उद्घाटन किया था। ईरानी को 2014 लोकसभा चुनाव में यहां से हार का सामना करना पड़ा था।

स्मृति ईरानी यहां से मिली हार के बाद से इसे संवारने में जुटी हैं और बीजेपी उन्हें 2019 में यहां फिर से चुनावी मैदान में खड़ा कर सकती है। केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष पर क्षेत्र को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया जबकि यहां के लोग चुनाव दर चुनाव गांधी परिवार के साथ खड़े रहे हैं।

(इनपुट आईएएनएस से)

First Published: Friday, September 07, 2018 08:12 PM

RELATED TAG: Rahul Gandhi, Smriti Irani, Amethi, Congress, Bjp,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो