भारत के तटीय इलाकों परेशान करने वाले 'तितली' चक्रवात का पाकिस्तानी कनेक्शन

अमेरिका में कटरीना हो या हिन्द महासागर में तितली तूफान की बात हो, एक झटके में कई लोग इन तूफानों में जान से हाथ धो बैठते हैं।

News State Bureau  |   Updated On : October 11, 2018 05:22 PM
चक्रवात की प्रतीकात्मक तस्वीर

चक्रवात की प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  

अमेरिका में कटरीना हो या हिन्द महासागर में तितली तूफान की बात हो, एक झटके में कई लोग इन तूफानों में जान से हाथ धो बैठते हैं। आइए, जानते हैं कैसे पड़ते हैं इन तूफानों के नाम।

तूफानों के नाम रखने की मुख्य वजह है कि वैज्ञानिक इसे लेकर स्पष्ट रह सकें। साथ ही साथ आम लोगों को इस बारे में अलर्ट कर सकें।

1953 की एक संधि से अटलांटिक क्षेत्र में तूफानों के नामकरण की शुरुआत हुई थी। भारत की पहल पर हिंद महासागर क्षेत्र के आठ देशों ने इन तूफानों के नामकरण की व्यवस्था 2004 में शुरू की। इन आठ देशों में बांग्लादेश, भारत, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, थाईलैंड और श्रीलंका शामिल हैं।

चर्चित तूफानों के नाम
32 तूफानों की सूची में भारत द्वारा दिए गए चार नाम- लहर, मेघ, सागर और वायु हैं। काफी चर्चा में रहे तूफान हेलेन का नाम बांग्लादेश ने, नानुक का म्यांमार ने, हुदहुद का ओमान ने, निलोफर और वरदा का पाकिस्तान ने, मेकुनु का मालदीव ने और हाल में बंगाल की खाड़ी से चले तूफान 'तितली' का नाम पाकिस्तान द्वारा दिया गया है। आगामी तूफानों में गाजा, फेथाई, फानी, वायु, हिक्का, क्यार, माहा, बुलबुल, पवन और अम्फान हैं। ये सभी तूफान उत्तरी हिंद महासागर से संबंधित हैं।

First Published: Thursday, October 11, 2018 09:34 AM

RELATED TAG: Titli, Katreena, Ocean, Storm, Odisa, Hudhud, Helan, Nilofar, Varda,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो