IRCTC की लाइव वेबसाइट का लाभ उठाऐं और अपने टिकट कन्फर्म होने की संभावना देखें

रेल यात्रियों के लिए टिकट लेना और कनफर्म टिकट मिल जाना तो ठीक है लेकिन कई बार ऐसा होता है कि उम्मीद पर टिकट वेटिंग में ले लिया जाता है.

NEWS STATE BUREAU  |   Updated On : January 13, 2019 08:16 AM
ईआरसीटीसी (Indian rail) की नई वेबसाइट लाइव हो गई है.

ईआरसीटीसी (Indian rail) की नई वेबसाइट लाइव हो गई है.

नई दिल्ली:  

रेल यात्रा करने जा रहे हैं तो उससे पहले हमें कई वार कन्फर्म टिकट को लेकर सोचना पड़ जाता है. रेल यात्रियों के लिए टिकट लेना और कन्फर्म टिकट मिल जाना तो ठीक है लेकिन कई बार ऐसा होता है कि उम्मीद पर टिकट वेटिंग में ले लिया जाता है. हमें यह नहीं मालूम होता कि टिकट कन्फर्म होगा या नहीं. ऐसी स्थिति में हर कोई अपने अनुभव के हिसाब से तय तक लेता है कि टिकट कन्फर्म होने के क्या आसार है. कई बार तो देखा गया है कि कुछ ट्रेनों में वेटिंग 1-2 होने के बाद भी टिकट यात्रा के दौरान कनफर्म नहीं होता है. कारण जो भी हों, ऐसे में यात्री यात्रा शुरू होने के एक दिन पहले ही असमंजस में होता है कि टिकट कनर्फम होगा या नहीं. चार्ट तैयार होने का इंतजार होता है और उसके बाद ही वह कोई निर्णय ले पाता है. रेलवे ने इसी असमंजस को दूर करने का प्लान तैयार किया और इसे लागू किया.

यह भी पढ़ें- यात्रीगण कृपया ध्यान दें, अब ट्रेन के समय से 20 मिनट पहले पहुंचना होगा स्टेशन! जानें क्यों

इस बात को लेकर तो आपका अपना भी अनुभव होगा ही कि रेल यात्रियों को हर बार कन्फर्म टिकट नहीं मिल पाता, इसके लिए IRCTC की वेबसाइट पर एक अनुमान जताने वाली सेवा शुरू की गई है. इससे यात्रियों को पता चल सकता है कि उनकी प्रतीक्षा सूची में लिए गए टिकट के कन्फर्म होने की कितनी संभावना रहेगी.

ईआरसीटीसी (Indian rail) की नई वेबसाइट लाइव हो गई है. इससे यात्रियों को अपनी प्रतीक्षा सूची के टिकट के कन्फर्म होने की संभावना की जानकारी मिल रही है. यह सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स (सीआरआईएस CRIS) द्वारा विकसित नए एल्गोरिद्म पर आधारित है. सेवा के आरंभ होने के पहले रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था, 'प्रतीक्षा सूची के बारे में अनुमान जताने वाले नए फीचर के अनुसार बुकिंग ट्रेंड के आधार पर कोई इस बात का अनुमान लगा सकता है कि प्रतीक्षा सूची वाले या आरएसी टिकट के कन्फर्म होने की कितनी संभावना है. हम पहली बार अपने पैसेंजर ऑपरेशन और बुकिंग पैटर्न का डेटा माइन करेंगे.'

बता दें कि पुराने आंकड़ों के संग्रह का विश्लेषण करके नई सूचना जुटाने की प्रक्रिया को डेटा माइनिंग कहा जाता है. अधिकारियों ने बताया कि यह विचार रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दिया था.

First Published: Sunday, January 13, 2019 07:18 AM

RELATED TAG: Indian Railways, Indian Railway, Railway, Irctc,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें
Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो