हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा बनाने का प्रयास जारी: सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री ने कहा कि कई देशों में इस बात की चिंता है कि हिंदी धीरे-धीरे लुप्त हो रही हे। हालांकि भारत हिंदी को बचाने में अहम योगदान दे सकता है।

  |   Updated On : August 11, 2018 12:21 PM
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली:  

दुनिया में हिंदी के अस्तित्व को बनाए रखने और इसे अत्याधिक मजबूत करने के लिए भारत लगातार प्रयासरत है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा बनाने के लिए हमारा प्रयास जारी है। मॉरीशस में आयोजित विश्व हिंदी सम्मेलन में विदेश मंत्री ने कहा कि हिंदी का महत्व बढ़ाने के साथ विभिन्न देशों में लुप्त हो रही हिंदी को बचाने के प्रयास से जोड़ा है।

विदेश मंत्री ने कहा कि कई देशों में इस बात की चिंता है कि हिंदी धीरे-धीरे लुप्त हो रही हे। हालांकि भारत हिंदी को बचाने में अहम योगदान दे सकता है।

हिन्दी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा बनाने के बारे में अड़चनों का जिक्र करते हुए सुषमा स्वराज ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के रूप में मान्यता प्रदान करने के लिए प्रस्ताव को दो तिहाई बहुमत से पारित करने के साथ सभी सदस्य देशों को इस पर होने वाले खर्च के लिए अंशदान करना होता है।

उन्होंने कहा कि हिन्दी को आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने के संदर्भ में संयुक्त राष्ट्र में 129 देशों का समर्थन जुटाना कठिन काम नहीं है। हमने योग दिवस को मान्यता दिलाने में 177 देशों का समर्थन जुटाया, अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में सदस्यता के संदर्भ में 183 देशों का समर्थन जुटाया।

और पढ़ें: केरल में बाढ़ का कहर, 40 साल में पहली बार खुले इडुक्की बांध के 5 शटर, एर्नाकुलम-त्रिशूर में हाई अलर्ट 

विदेश मंत्री ने कहा कि लेकिन आधिकारिक भाषा के संदर्भ में सदस्य देशों को वोट से समर्थन देने के साथ आर्थिक बोझ भी उठाना पड़ता है। अगर इसका पूरा खर्च भी हमें देना पड़े, तब भी हम इसके लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि यही स्थिति जर्मनी और जापान के सामने भी है। ये दोनों देश भी अपनी भाषा को इस विश्व निकाय की आधिकारिक भाषा बनाना चाहते हैं। लेकिन उनके सामने भी यही बाधा आ रही है। 

उन्होंने कहा कि इसी उद्देश्य के तहत भारत ने मॉरीशस के राष्ट्रीय पक्षी डोडो को विलुप्त हो रही हिंदी का प्रतीक मानते हुए विश्व हिंदी सम्मेलन का साझा लोगो तैयार किया गया है।

और पढ़ें:  दलाई लामा ने कहा, चीन के साथ मिलना चाहता है तिब्बत, बशर्ते वह करे हमारी संसकृति की रक्षा 

सुषमा ने कहा मॉरीशस में 18 से 20 अगस्त के बीच आयोजित हो रहा विश्व हिंदी सम्मेलन काफी व्यापक और भव्य होगा। इसकी थीम हिंदी विश्व और भारतीय संस्कृति है। इसमें संस्कृति के विभिन्न आयामों पर चर्चा होगी।

First Published: Saturday, August 11, 2018 12:01 PM

RELATED TAG: Sushma Swaraj, Hindi, United Nations,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो