दहेज उत्पीड़न मामलों में सीधे गिरफ्तारी पर रोक की समीक्षा करेगा सुप्रीम कोर्ट, पूर्व निर्देशों पर जताई हैरानी

दहेज उत्पीड़न मामले में सीधे गिरफ्तारी पर रोक लगाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर चीफ जस्टिस ने हैरानी जताई।

News State Bureau  |   Reported By  :  Arvind Singh   |   Updated On : November 29, 2017 01:27 PM
दहेज उत्पीड़न के मामलों में सीधे गिरफ्तारी पर रोक की समीक्षा करेगा SC

दहेज उत्पीड़न के मामलों में सीधे गिरफ्तारी पर रोक की समीक्षा करेगा SC

ख़ास बातें
  •  सुप्रीम कोर्ट ने दहेज उत्पीड़न मामले में पूर्व बेंच के फैसले पर जताई हैरानी 
  •  दहेज उत्पीड़न मामले में पूर्व बेंच ने सीधे गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी
  •  सीजेआई ने कहा कि कानून के रहते अलग से गाइडलाइन कैसे बना सकते है 

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट ने दहेज उत्पीड़न मामले में सीधे गिरफ्तारी के फ़ैसले पर हैरानी ज़ाहिर की है।

सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने फ़ैसले पर हैरानी जताते हुए कहा, 'कानून के रहते अलग से गाइडलाइन कैसे बनाई जा सकती है?'

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दहेज उत्पीड़न के मामलों में डिवीजन बेंच का आदेश ग़लत था।

बता दें कि डिवीजन बेंच ने इससे पहले फ़ैसला सुनाते हुए सीधे गिरफ्तारी पर रोक लगाई थी और पहले की प्रकिया से अलग एक गाइड लाइन बनाई थी।

चीफ जस्टिस ने कहा कि वो डिवीजन बेंच के आदेश पर दोबारा विचार करेंगे।

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट की ही दो सदस्यीय बेंच ने दहेज उत्पीड़न के मामलों में सीधे गिरफ्तारी पर रोक लगाने और मामला शुरू में वेलफेयर कमेटी को भेजने जैसे कई निर्देश जारी किए थे।

केरल धर्म परिवर्तन केस: हदिया बोली मैं अभी भी आजाद नहीं

इसके बाद कुछ सामाजिक संगठनों ने इसे महिलाओं के हितों के खिलाफ बताते हुए अर्जी दायर की थी जिस पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट जनवरी के तीसरे हफ्ते में सुनवाई करेगा।

मुशर्रफ ने की हाफिज सईद की तारीफ, कबूला- कश्मीर में है LeT की मौजूदगी

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया है कि दो जजों के आदेश से दहेज उत्पीड़न रोक कानून का असर कम हो जाएगा और महिलाओं पर अत्याचार बढ़ेंगे। इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच कर रही है।

इससे पहले जस्टिस आदर्श गोयल की अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय बेंच ने गाइडलाइन बनाने का आदेश दिया था। 

यह भी पढ़ें: पद्मावती विवाद: बॉलीवुड में ऐतिहासिक फिल्मों पर कंट्रोवर्सी का लंबा इतिहास रहा है

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published: Wednesday, November 29, 2017 12:17 PM

RELATED TAG: Supreme Cout, Sc Dowery Case, Cji Dipak Misra, Dowry Harrassment,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो