BREAKING NEWS
  • मार्च 2019 में ही मोदी सरकार के कार्यकाल में 8 लाख से ज्यादा लोगों को मिला रोजगार, EPFO ने जारी किया आंकड़ा- Read More »
  • Horrifying Video: जिम में 250 किलो का डंबल उठा रहा था शख्स, नीचे की ओर झुकते ही टूट गई पैर की हड्डी- Read More »
  • Exit Poll देखकर EVM पर चढ़ी विपक्ष की त्योरियां लेकिन इन नेताओं ने कभी ईवीएम पर नहीं उठाया सवाल- Read More »

सीआईसी ने 2016 के नंबवर में छपे नोटों का ब्योरा मांगा

IANS  |   Updated On : December 08, 2018 11:09 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

गुरुग्राम:  

केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नोटबंदी के बाद 30 नवंबर 2016 तक कुल कितने 2,000 रुपये और 500 रुपये के नोटों की छपाई की गई, इसकी जानकारी दें. एक आरटीआई कार्यकर्ता ने शनिवार को यह जानकारी दी. गुरुग्राम के सूचना के अधिकार (आरटीआई) कार्यकर्ता हरिंदर धींगड़ा ने 9 नवंबर 2016 से 30 नवंबर 2016 के बीच रोजाना छापे गए नोटों की जानकारी मांगी थी.

धींगड़ा ने इस जानकारी के लिए आरटीआई अधिनियम के तहत 23 फरवरी 2017 को आवेदन दाखिल किया था. धींगड़ा ने बताया कि केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी (सीपीआईओ) ने पहले आवेदन को खारिज कर दिया था. उसके बाद 16 अगस्त 2017 को दूसरी अपील दाखिल की गई.

धींगड़ा ने कहा कि 30 नवंबर 2018 को सुनवाई के बाद सूचना आयुक्त सुधीर भार्गव ने 5 दिसंबर 2018 को सूचना देने के आदेश जारी किए. आदेश में कहा गया, '9 नवंबर 2016 से 30 नवंबर 2016 तक रोजाना कितने नोट छापे गए, यह कोई संवेदनशील मामला नहीं है, जिसे आरटीआई अधिनियम की धारा 8(1)(ए) के तहत छूट प्रदान की जाए, इसलिए सीपीआईओ को निर्देश दिया जाता है कि मांगी गई जानकारी मुहैया कराई जाए. साल 2016 में 8 नवंबर की आधी रात को नोटबंदी लागू करने की घोषणा की गई थी.

First Published: Saturday, December 08, 2018 11:09 PM

RELATED TAG: Rti, Demonetization, Central Information Commission,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो