मोदी सरकार ने किया साफ, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की नहीं होगी रिहाई

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि राजीव गांधी हत्याकांड मामले के दोषियों को रिहा नहीं किया जा सकता और साथ ही कहा कि उन्हें रिहा करने से एक 'खतरनाक उदाहरण' पेश होगा।

  |   Updated On : August 10, 2018 05:26 PM
राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा नहीं किया जा सकता : केंद्र (फाइल फोटो)

राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा नहीं किया जा सकता : केंद्र (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि राजीव गांधी हत्याकांड मामले के दोषियों को रिहा नहीं किया जा सकता और साथ ही कहा कि उन्हें रिहा करने से एक 'खतरनाक उदाहरण' पेश होगा। केंद्र की तरफ से पेश अतिरिक्त महाधिवक्ता पिंकी आनंद ने न्यायमूर्ति रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ से कहा कि केंद्र को तमिलनाडु सरकार का दोषियों को रिहा करने का प्रस्ताव स्वीकार नहीं है।

केंद्र ने अपनी रिपोर्ट में कहा, 'पूर्व प्रधानमंत्री के हत्यारों को रिहा करने से गलत उदाहरण पेश होगा। इस मामले पर न्यायपालिका और कार्यपालिका के विभिन्न मंचों से निर्णय किया गया है और कैदी रिहा के काबिल नहीं हैं।'

गृह मंत्रालय द्वारा 18 अप्रैल को लिए गए निर्णय से अवगत कराते हुए आनंद ने कहा कि केंद्र ने राज्य सरकार के प्रस्ताव पर सात दोषियों को रिहा नहीं करने का फैसला किया है।

और पढ़ें: सीएम योगी ने पूर्व प्रधानमंत्री पर साधा निशाना, कहा- दलालों के आगे लाचार थे राजीव गांधी

गृह मंत्रालय के निर्णय में कहा गया है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो ने 'न्याय के हित' को देखते हुए तमिलनाडु सरकार के प्रस्ताव का विरोध किया है।

केंद्र के दस्तावेज के अनुसार, 'मामले की समीक्षा और जांच न्यायपालिका और कार्यपालिका के विभिन्न मंचों पर किया गया। दोनों मंचों ने मामले का मूल्यांकन किया और निर्णय लिया।'

बयान के अनुसार, 'चार विदेशी नागरिक, जिन्होंने 15 अन्य के साथ मिलकर (जिनमें से अधिकतर पुलिस अधिकारी थे) तीन भारतीय नागरिकों की मिलीभगत से इस देश के पूर्व प्रधानमंत्री की जघन्य हत्या की। उन्हें रिहा करने से एक खतरनाक उदाहरण पेश होगा।'

ये भी पढ़ें: ऐसी थी राजीव-सोनिया की पहली मुलाकात, एक धमाके के बाद छा गया था सन्नाटा!

केंद्र ने न्यायालय में यह रिपोर्ट शीर्ष अदालत के उस आदेश के बाद दाखिल किया है, जिसमें केंद्र को तमिलनाडु सरकार के प्रस्ताव पर तीन महीने में जवाब दाखिल करना था।

First Published: Friday, August 10, 2018 03:33 PM

RELATED TAG: Rajiv Gandhi, Supreme Court, Government, Pm Narendra Modi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो