राफेल डील को लेकर बोले प्रशांत भूषण, बताया देश का सबसे बड़ा रक्षा घोटाला

बातीचत के दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर भी सवाल उठाए. प्रशांत भूषण ने कहा कि अनिल अंबानी प्रधानमंत्री के करीबी हैं इसलिए उन्हें कमीशन दिलाने की कोशिश की गई.

News State Bureau  |   Updated On : October 13, 2018 08:40 PM
प्रशांत भूषण (फाइल फोटो)

प्रशांत भूषण (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर विवाद लगातार गहराता जा रहा है. इस मुद्दे को लेकर देश के जाने माने वकील प्रशांत भूषण ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से लिखित शिकातयत की है. सीबीआई के पास दर्ज शिकायत में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर और कई अन्य के नाम दर्ज करवाए हैं. शिकायत दर्ज करवाने के बाद उन्होंने कहा कि यदि सीबीआई इस मामले की जांच नहीं करती है तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे.

मीडिया से बातचीत के दौरान प्रशांत भूषण ने रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के फ्रांस दौरे पर सवाल उठाए. सीतारमण पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले को दबाने के लिए रक्षा मंत्री फ्रांस के दौरे पर गई हैं.

बातीचत के दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर भी सवाल उठाए. प्रशांत भूषण ने कहा कि अनिल अंबानी प्रधानमंत्री के करीबी हैं इसलिए उन्हें कमीशन दिलाने की कोशिश की गई.

वरिष्ठ वकील भूषण ने कहा कि रिलायंस को साझेदार बनाने के लिए सभी नियमों को ताख पर रख दिया गया. देश की सुरक्षा के साथ समझौता किया गया. इस दौरान कई अन्य आरोप भी लगाए.

इसे भी पढ़ेंः भारत ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को दिखाया आईना, CPEC का भी किया विरोध

इस दौरान उन्होंने कहा कि यह भारत का सबसे बड़ा रक्षा घोटाला है. बोफोर्स घोटाले को लेकर उन्होंने कहा कि वह तो महज 64 करोड़ का कमिशन घोटाला था. हालांकि इस दौरान उन्होंने यह नहीं बताया कि अगल कदम कब तक उठाएंगे.

First Published: Saturday, October 13, 2018 08:40 PM

RELATED TAG: Rafale Deal, Defence Scam, India, Prashant Bhushan,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो