आज़ादी का 72वां साल: अब बीमारी से नहीं होगी किसी की मौत, पीएम मोदी ने लॉन्च की आयुष्मान योजना, 50 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल क़िले के प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के शुरुआत की घोषणा की।

News State Bureau  |   Updated On : August 15, 2018 12:08 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल क़िले के प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करेंगे (दूरदर्शन)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल क़िले के प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करेंगे (दूरदर्शन)

नई दिल्ली:  

72वें स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल क़िले के प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के शुरुआत की घोषणा की। पीएम मोदी ने कहा, '25 सितंबर को, पंडित दीन दयाल की जयंती पर, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू कर दी जाएगी। इससे निर्धनों को अच्छी और किफायती हेल्थकेयर सुविधा मिलेगी।' बता दें कि 'प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना' एक बीमा योजना है जिसके तहत ग़रीब परिवार को 5 लाख़ रुपये तक का बीमा कवर मिलेगा।

वहीं देश के किसानों की ख़राब हालत को लेकर पीएम मोदी ने कहा, 'आज हमारा पूरा ध्यान कृषि क्षेत्र में बदलाव लाने का, आधुनिकता लाने का है। बाजार से बाजार तक के अप्रोच से हम कृषि के क्षेत्र में कई रिफॉर्म ला रहें है। 2022 तक किसानों की आय दुगनी करना हमारा लक्ष्य है।'

वहीं स्वच्छता अभियान को लेकर पीएम मोदी ने कहा, 'WHO की रिपोर्ट के मुताबिक तीन लाख बच्‍चे स्‍वच्‍छता अभियान की वजह से मरने से बच गए, जबकि यह अभियान शुरू करते समय लोगों ने इसकी आलोचना की थी और मजाक उड़ाया था। उन्‍होंने कहा था कि सरकार का काम यह नहीं है। गांधी जी की प्रेरणा से स्‍वच्‍छाग्रही तैयार किए हैं। केंद्र सरकार इस बापू के इस सपने को पूरा करेगी।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि भारत अपनी मजबूत अर्थव्यवस्था के साथ सकारात्मकता और आत्मविश्वास के बीच 72वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मना रहा है। मोदी ने 2019 के चुनाव से पहले अपने आखिरी स्वतंत्रता दिवस के भाषण में कहा, 'भारत ने अपना नाम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में दर्ज कराया है। इसने सकारात्मक माहौल बनाया है। हम इस तरह के सकारात्मक माहौल में आजादी का पर्व मना रहे हैं।'

इससे पहले उन्होने समस्त देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा, मेरे प्यारे देशवासियों आज़ादी की पावन पर्व की आप सब को अनेक अनेक शुभकामनाएं। आज का सूर्योदय एक नई चेतना एक नया उमंग औरएक नया उत्साह लेकर आया है। आज़ादी का पर्व हम उस वक़्त मना रहे हैं जब नेवी की 6 महिला अफसरों ने हाल ही में विश्व दौरा पूरा किया है। हमारे देश की बेटियों ने एवरेस्ट पर जाकर तिरंगा फहराया है लेकिन इस आज़ादी पर मैं आदिवासी समुदाय के उन नन्हें-मुन्हें बच्चों को याद करूंगा जिन्होंने एवरेस्ट पर जाकर तिरंगा फहराया है।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने मॉनसून सत्र का जिक्र करते हुए कहा, 'ससंद का यह सत्र सामाजिक न्याय को सर्मपित रहा। हमारे संसद में सामाजिक न्याय के साथ अत्यंत पिछड़ों को उनका हक़ देकर उनके संवैधानिक हितों की रक्षा की है।'  

पीएम मोदी ने कहा, संविधान कहता है कि देश के सभी नागरिकों को न्याय मिले, सबको आगे बढ़ने का अधिकार मिले। संविधान देश को आगे बढ़ने का रास्ता दिखाता है।

पीएम मोदी ने देश के कई हिस्सों में आई बाढ़ को लेकर कहा कि समस्त देशवासी ऐसे समय में उनके साथ है और उनके दुख से व्यथित हैं।  

पीएम मोदी नेकहा कि पूरी दुनिया में हिंदुस्तान की धमक हो हम ऐसा हिंदुस्तान देखना चाहते हैं।

पीएम मोदी ने अपनी सरकार के चार सालों के कार्यकाल बनाम पूर्ववर्ती सरकार का तुलनात्मक चर्चा करते हुए कहा, 'अगर शौचालय बनाने में 2013 की रफ्तार से चलते तो शायद तो कितने दशक बीत जाते। अगर हम गांव में बिजली पहुंचाने की बात करें, तो 2013 के आधार के आधार पर सोचें, तो एक दो दशक और लग जाते। 2013 को सोचें तो एलपीजी कनेक्शन... अगर 2013 की रफ्तार से ऑप्टिकल फाइबर लगाने का काम करते तो गांवों में पहुंचाने में पीढ़ियां निकल जातीं।'

और पढ़ें- 72वां स्वतंत्रता दिवस: आजादी के ऐसे हीरो जो नहीं बन पाए सुर्खियां, पर साबित हुए मील के पत्थर

पीएम ने कहा कि 2014 से अब तक मैं अनुभव कर रहा हूं कि सवा सौ करोड़ देशवासी सिर्फ सरकार बनाकर रुके नहीं। वो देश बनाने में जुटे हैं। 4 साल में देश बदलाव महसूस कर रहा है। आज देश दो गुनी रफ्तार से हाइवे बना रहा है। गांव में 4 गुना तेजी से घर बन रहे हैं। देश में आजादी के बाद अब सबसे ज्यादा हवाई जहाज भी खरीदे जा रहे हैं।

कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगर 2013 की रफ्तार से काम होता तो काम पूरे होने में 100 साल भी कम पड़ जाते। जिस रफ्तार से 2013 में गैस कनेक्शन दिया जा रहा था, अगर वही पुरानी रफ्तार होती तो देश के हर घर में सालों तक भी गैस कनेक्शन नहीं पहुंच पाता। जिस रफ्तार से 2013 में गांवों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का काम चल रहा था, उस रफ्तार से देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने में कई पीढ़ियां गुजर जातीं। देश की अपेक्षाएं और आवश्यकताएं बहुत हैं, उसे पूरा करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को निरंतर प्रयास करना है।

उन्होंने कहा, 'महान तमिल कवि, दीर्घदृष्टा और आशावादी सुब्रामणियम भारती ने लिखा था कि भारत न सिर्फ एक महान राष्ट्र के रूप में उभरेगा बल्कि दूसरों को भी प्रेरणा देगा। उन्होंने कहा था- भारत पूरी दुनिया को हर तरह के बंधनों से मुक्ति पाने का रास्ता दिखाएगा।'

और पढ़ें- Google Doodle Happy Independence Day 2018: गूगल ने ट्रकों की सजावट वाले डूडल से दी स्वतंत्रता दिवस की बधाई

पीएम मोदी ने कहा, '2014 से पहले दुनिया की गणमान्य संस्थाएं और अर्थशास्त्री कभी हमारे देश के लिए क्या कहा करते थे, वो भी एक जमाना था कि हिंदुस्तानी की इकॉनोमी बड़ी रिस्क से भरी है वही लोग आज हमारे रिफॉर्म की तारीफ कर रहे हैं।'

पीएम ने कहा कि जब हौसले बुलंद होते हैं, देश के लिए कुछ करने का इरादा होता है तो बेनामी संपत्ति का कानून भी लागू होता है। हम कड़े फैसले लेने का सामर्थ्य रखते हैं क्योंकि देशहित हमारे लिए सर्वोपरी है।

पीएम ने आगे कहा, 'एक समय था जब नॉर्थ ईस्ट को लगता था कि दिल्ली बहुत दूर है, आज हमने दिल्ली को नॉर्थ ईस्ट के दरवाजे पर लाकर खड़ा कर दिया है। नॉर्थ-ईस्ट आजकल उन खबरों को लेकर आ रहा है जो देश को प्रेरणा दे रहा है।'

पीएम ने कहा कि अपनी सरकार के कार्यों का गुणगाण करते हुए कहा कि 13 करोड़ मुद्रा लोन, उसमें भी 4 करोड़ लोगों ने पहली बार लोन लिया है, ये अपने आप में बदले हुए हिन्दुस्तान की गवाही देता है।

उन्होंने कहा, 'देश के वैज्ञानिकों ने 100 से अधिक सैटलाइट छोड़े हैं। अब देश का मानव सहित अंतरिक्ष में जाने का लक्ष्‍य है। आज मेरा सौभाग्य है कि इस पावन अवसर पर मुझे देश को एक और खुशखबरी देने का अवसर मिला है। साल 2022, यानि आजादी के 75वें वर्ष में और संभव हुआ तो उससे पहले ही, भारत अंतरिक्ष में तिरंगा लेकर जा रहा है।'

और पढ़ें- Independence Day 2018ः लाल किले की प्राचीर से पीएम ने कहा, सेना के लिए हमने वन रैंक वन पेशन को लागू किया

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'आपके टैक्स देने की वजह से जिस वक्त आप खाना खाते हैं उस वक्त 3 गरीब परिवारों को खाना मिलता है। अगर योजनाओं से किसी को पुण्य मिलता है तो सरकार को नहीं बल्कि ईमानदार करदाताओं को मिलता है। आज देश ईमानदारी का उत्सव मना रहा है।'

वहीं महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों को लेकर पीएम ने कहा, 'महिला शक्ति को चुनौती देने वाली राक्षसी शक्ति भी पैदा हो रही हैं। इससे देश को मुक्त बनाना होगा। कानून अपना काम कर रहा है लेकिन हमें भी अपने स्तर पर इससे लड़ना होगा। बलात्‍कार की शिकार बेटी को जितनी पीड़ा होती है, उससे लाखों गुना हमें होती है। यह राक्षसी मनोवृति से देश को मुक्‍त कराना होगा।'

पीएम ने आगे कहा, 'पिछले दिनों में मध्‍य प्रदेश के कटनी में बलात्‍कारियों को पांच दिन में सजा सुना दी गई है। राजस्‍थान में ऐसा ही हुआ है और राक्षसी वृत्ति की मानसिकता को फांसी की सजा हुई है। हमें इसे प्रचारित करना होगा।'

पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लिए अटल जी का आह्वान करते हुए कहा, उन्होंने कहा था- इंसानियत, कश्मीरियत, जम्हूरियत। मैंने भी कहा है, वहां की हर समस्या का समाधान गले लगाकर ही किया जा सकता है। हमारी सरकार वहां के सभी क्षेत्रों और सभी वर्गों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है

पीएम ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में लोकतांत्रिक इकाइयों को और मजबूत करने के लिए लंबे समय से टल रहे पंचायत और निकाय चुनाव भी जल्द कराये जाने की तैयारी चल रही है।'

उन्होंने कहा, 'आने वाले कुछ महीने में जम्मू-कश्मीर के लोगों को अपना मत जताने का अधिकार मिलेगा, निकाय चुनावों की शुरूआत होगी।'

और पढ़ें- आज़ादी का 72वां साल: 15 अगस्त 1947 से काफी पहले ही जिन्ना ने डाल दी थी बंटवारे की नींव!

इसके अलावा पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर महिलाओं को तोहफा देते हुए सेना में महिला अधिकारियों को भी स्थाई कमीशन की घोषणा की।

म्‍युचुअल फंड स्‍कीम

5 साल का रिटर्न

रिलायंस स्‍मॉल कैप फंड

36.90 फीसदी

First Published: Wednesday, August 15, 2018 07:30 AM

RELATED TAG: Modi Speech Independence Day 2018, Pm 72nd, Key Points Of Pm Narendra Modis Speech, Pm Narendra Modi Speech On Red Fort,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो