बीजेपी सरकार में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.40 रुपये प्रति लीटर हो गई, वहीं डीजल 65.65 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर को छू गई।

  |   Updated On : April 22, 2018 08:28 PM
BJP सरकार में पेट्रोल की कीमतें उच्चतम स्तर पर (फोटो: IANS)

BJP सरकार में पेट्रोल की कीमतें उच्चतम स्तर पर (फोटो: IANS)

ख़ास बातें
  •  रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.40 रुपये प्रति लीटर
  •  डीजल 65.65 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर को छू गई
  •  अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में बढ़ रहे हैं कच्चे तेल के दाम

नई दिल्ली:  

मोदी सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.40 रुपये प्रति लीटर हो गई, वहीं डीजल 65.65 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर को छू गई।

सरकारी तेल कंपनियों ने पिछले साल जून महीने से तेल की कीमतों को रोजाना स्तर पर तय करना शुरू किया था, रविवार को दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 19 पैसे की बढ़ोतरी की गई।

अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी की वजह से देश में पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में इजाफा हो रहा है। शनिवार को भी पेट्रोल की कीमत 13 पैसे और डीजल की कीमत 15 पैसे बढ़ी थी।

14 सितंबर 2013 के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत अपने उच्चतम स्तर (74.40 रुपये) पर पहुंच गया है जो उस वक्त 76.06 रुपये प्रति लीटर पर था। साथ ही डीजल की कीमत (65.65 रुपये प्रति लीटर) अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया।

गौरतलब है कि दक्षिण एशियाई देशों के बीच भारत में पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमत सबसे ज्यादा है क्योंकि एक्साइज ड्यूटी और वैट के कारण कीमत इतनी बढ़ी हुई रहती है।

पेट्रोलियम मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में बढ़ रहे दामों से बचाने के लिए इसी साल पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने को कहा था लेकिन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 1 फरवरी के बजट में इस नकार दिया था।

बता दें कि अगर अभी सरकार पेट्रोल की कीमत को जीएसटी के सबसे ऊंचे दर वाले स्लैब (18 फीसदी) में भी रखती है तो कीमत करीब 50 रुपये लीटर हो जाएगी।

और पढ़ें: बैंकों के बढ़ते एनपीए के बीच एचडीएफसी बैंक को 17486 करोड़ रुपये का मुनाफा

यह जानना जरूरी है कि भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतें एक्साइज ड्यूटी और वैट के कारण इतना बढ़ी हुई रहती है।

सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का मुख्य कारण वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी को बताया है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नवंबर 2014 और जनवरी 2016 के बीच अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में कमी के बावजूद एक्साइज ड्यूटी को नौगुणा बढ़ा दिया था लेकिन अक्टूबर 2017 में 2 रुपये प्रति लीटर टैक्स घटा दिया था।

इसके कारण अक्टूबर 2017 में दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 70.88 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 59.14 रुपये प्रति लीटर हो गई थी।

और पढ़ें: आर्थिक मंदी का गहरा सकता है संकट, वैश्विक कर्ज रिकॉर्ड स्तर पर: IMF

First Published: Sunday, April 22, 2018 03:46 PM

RELATED TAG: Petrol Price, Diesel Price, Modi Government, Petrol Diesel Price, Petrol, Diesel,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो