किसी राजनीतिक दल को वोट देने की अपील धर्म गुरुओं को पहुंचा सकती है जेल

अब चुनाव में किसी धार्मिक गुरु या फिर धार्मिक संस्था के मुख्य पद पर बैठे व्यक्ति को अपने अनुयायियों से किसी एक राजनीतिक दल को वोट देने की अपील करना महंगा पड़ सकता है।

News State Bureau  |   Updated On : December 04, 2017 07:10 AM
संसद भवन (फाइल फोटो)

संसद भवन (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  धार्मिक गुरुओं को किसी दल को वोट देने की अपील पर जेल जाना पड़ सकता है
  •  7 साल की हो सकती है जेल, 10 रुपये तक जुर्माने का भी प्रावधान

नई दिल्ली:  

अब चुनाव में किसी धार्मिक गुरु या फिर धार्मिक संस्था के मुख्य पद पर बैठे व्यक्ति को अपने अनुयायियों से किसी एक राजनीतिक दल को वोट देने की अपील करना महंगा पड़ सकता है।

ऐसा करने पर उन धार्मिक गुरुओं को न सिर्फ सात साल तक की जेल हो सकती है बल्कि उनपर जुर्माना भी लगाया जा सकता है। 15 दिसंबर से शुरू हो रहे संसद की शीतकालीन सत्र में इससे जुड़े बिल पर चर्चा हो सकती है।

भारतीय राष्ट्रीय लोक दल (आईएनएलडी) के सांसद दुष्यंत चौटाला ने धार्मिक संस्थाओं (दुरुपयोग निवारण) अधिनियम, 1988 में संशोधन करने का प्रस्ताव दिया है ताकि धार्मिक संस्थाओं को राजनीतिक दलों के लिए अनुयायियों को ऐसा आदेश देने का मौका ना मिले।

2015 में सदन में रखे गए इस बिल के मुताबिक 'कोई भी धार्मिक संस्था या प्रबंधक या आध्यात्मिक गुरु किसी भी व्यक्ति या समूह को वोट देने या किसी भी राजनीतिक दल या किसी व्यक्ति विशेष के चुनाव में वोट देने के अपील नहीं कर सकेगा।

यह भी पढें: पीएम मोदी पूरा करेंगे रैलियों का दोहरा शतक, क्या बीजेपी को मिल सकेगी 150 सीटें

अगर कोई भी धार्मिक संस्था या फिर आध्यात्मिक गुरू ऐसा करेगा तो उन्हें कारावास की सजा दी जा सकती है। इसमें सजा की अधितम अवधि 7 साल होगी। यदि कोई आध्यात्मिक नेता ऐसा करता है, तो उन्हें उस अवधि के लिए कारावास की सजा दी जाएगी जो सात साल तक हो सकती है। ऐसे मामलों में दोषी पाये जाने पर 10 लाख रुपये तक जुर्माना लगाने का भी प्रावधान होगा।

इस बिल के प्रस्ताव को लेकर दुष्यंत चौटाला ने कहा, विधेयक का व्यापक उद्देश्य धर्म, धार्मिक संस्थानों और आध्यात्मिक गुरुओं के राजनीतिकरण और ऐसे संस्थानों के अपराधीकरण को रोकना है।

यह भी पढ़ें: राहुल का पीएम मोदी से 5वां सवाल, महिलाओं को क्यों नहीं मिल रहा सुरक्षा, पोषण और शिक्षा?

First Published: Sunday, December 03, 2017 08:04 PM

RELATED TAG: Religious Leaders, Religious Institutions, Parliament,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो