BREAKING NEWS
  • स्टील किंग लक्ष्मी निवास मित्तल के छोटे भाई धोखाधड़ी के संदेह में गिरफ्तार- Read More »
  • फिर उठा असहिष्‍णुता का शोर, श्‍याम बेनेगल, रामचंद्र गुहा सहित कई लोगों ने लिखा पीएम मोदी को खत- Read More »
  • ट्रंप से भी ज्यादा विवादित हैं ब्रिटेन के नए पीएम, मुस्लिम महिलाओं को लेकर कर चुके हैं अभद्र टिप्पणी- Read More »

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद से पूछताछ कर चुके अधिकारी ने कहा, Don ने अपराध कुबूल कर लिया था, लेकिन...

IANS  |   Updated On : June 22, 2019 06:20 AM
दाऊद इब्राहिम (फाइल फोटो)

दाऊद इब्राहिम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भारत के सबसे बड़े वांछित भगोड़े दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) से पूछताछ कर चुके विशेष जांच अधिकारी ने एक किताब लिखी है, जिसमें उन्होंने खुलासा किया है कि डॉन एक सामान्य-सा दिखने वाला डरपोक आदमी है, जिसने स्वीकार किया था कि वह अपराध में शामिल था.

यह भी पढ़ेंः Closing Bell: उतार-चढ़ाव के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स में 66 प्वाइंट की बढ़त

भारतीय सीमा शुल्क विभाग के सुपर कॉप के रूप में प्रसिद्ध राजस्व खुफिया निदेशालय के पूर्व महानिदेशक बीवी कुमार (BV Kumar) ने अपनी नई किताब डीआरआई एंड डॉन्स में खुलासा किया है कि अंडरवर्ल्ड (Underworld) के एक कथित अपराधी राशिद अरबा (Rashid Arab) ने उन्हें दाऊद इब्राहिम के शुरुआती ठिकानों की जानकारी दी थी. राशिद ने बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता दिलीप कुमार की बहन (Dilip Kumar Sisiter) से शादी की थी.

बीवी कुमार ने आईएएनएस से कहा कि अंडरवर्ल्ड के डॉन, विशेष रूप से दाऊद इब्राहिम और हाजी मस्तान पर किताब लिखने का उनका उद्देश्य दक्षिण एशिया के सबसे खूंखार गिरोहों के खिलाफ शुरुआती कठोर कार्रवाई में डीआरआई के अद्वितीय योगदान पर प्रकाश डालना है. कुमार ने कहा, "डीआरआई दाऊद को हिरासत में लेने, उससे पूछताछ करने और उसके खिलाफ सीओएफईपीओएसए के अंतर्गत मामला दर्ज करने वाली प्रमुख एजेंसी थी. मैंने जब दाऊद को गिरफ्तार किया (जुलाई 1983) तो गुजरात के उच्च न्यायालय में इसकी तत्काल सुनवाई के लिए एक याचिका दायर की गई. डॉन की तरफ से अदालत में राम जेठमलानी पेश हुए."

यह भी पढ़ेंः भोपाल: बैरागढ़ थाने में कथित हत्या मामले में मेडिकल रिपोर्ट से बड़ा खुलासा, 5 पुलिसकर्मी भी सस्पेंड

बाद में जमानत पाने और दुबई भागने वाला दाऊद डीआरआई द्वारा सीओएफईपीओएसए के अंतर्गत अभी भी वांछित है. यह मामला बीवी कुमार ने दर्ज किया था. कुमार भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के उन चुनिंदा अधिकारियों में से हैं, जिन्होंने डीआरआई के साथ-साथ मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) का भी नेतृत्व किया है. उनका करियर शानदार रहा, जिसमें उन्होंने मुंबई में अंडरवर्ल्ड के कुख्यात गिरोहों को कुचल दिया.

दाऊद से अपनी मुठभेड़ को याद करते हुए कुमार ने कहा कि वह 80 के दशक के मध्य में अहमदाबाद में सीमा शुल्क आयुक्त के तौर पर नियुक्त थे. उस समय दाऊद और करीम लाला के गिरोहों के बीच खूनी संघर्ष के कारण समाज में खौफ था, जिससे महाराष्ट्र और गुजरात में शांति-व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित थी. कुमार ने अपनी किताब में लिखा है कि एक दिन पोरबंदर से सड़क मार्ग से मुंबई लौटते समय, कार में पीछे की सीट पर बैठे उनके सहयोगी द्वारा चलाई गई गोली धोखे से दाऊद को लग गई. उन्होंने निशाना हालांकि डी-कंपनी के विरोधी करीम लाला के करीबी आलमजेब पर लगाया था.

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार की प्रदूषण पर 'सर्जिकल स्ट्राइक' की तैयारी, होगा बड़ा लाभ

पूर्व आईआरएस अधिकारी ने अपनी किताब में खुलासा किया है कि गोली दाऊद की गर्दन में लगी, लेकिन चोट मामूली थी. डॉन को बड़ौदा के सयाजी हॉस्पिटल ले जाया गया. उन्होंने कहा, "मुझे घटना की जानकारी दी गई और मैंने तुरंत बड़ौदा के पुलिस आयुक्त पी.के. दत्ता से बात की." कुमार ने कहा, "बाद में पूछताछ में दाऊद ने स्वीकार किया वह नंबर दो का धंधा करता है. वह मुझसे हिंदी में बात कर रहा था. मुझे वह एक शांत व्यक्ति लगा जो शांत दिखता था. दत्ता के कार्यालय में लगभग आधा घंटे तक पूछताछ चली. इसके बाद मैं अहमदाबाद लौट आया और सीओएफईपीओएसए के अंतर्गत दाऊद के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट प्राप्त किया."

कुमार से जब यह पूछा गया कि दाऊद एशिया के सबसे खतरनाक डॉनों में कैसे शामिल हो गया, तो उन्होंने कहा कि राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी इसके पीछे सबसे बड़ा कारण प्रतीत होती है. उन्होंने कहा, "दाऊद ने सभी को पैसों से खरीद लिया. बॉलीवुड कलाकारों से क्रिकेटर और शायद कुछ बड़े राजनेताओं को भी. लेकिन मेरे विचार से भारत के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के साथ प्रत्यर्पण संधि करते ही, दाऊद को दुबई छोड़ना पड़ा और उसने पाकिस्तान में स्थाई शरण ले ली."

यह भी पढ़ेंः World Cup: अफगानिस्तान की बखिया उधेड़ने के बाद इयॉन मॉर्गन ने दिया बड़ा बयान, कहा- यकीन नहीं था

उन्होंने कहा, "वह अब उतना प्रभावशाली नहीं बचा है, जितना वह दुबई में था, जहां वह कई सेलीब्रिटीज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलता था." कुमार ने कहा कि उनका मानना है कि दाऊद इन दिनों स्वस्थ नहीं है, और वह शायद अपनी अंतिम सांस तक पाकिस्तान में ही रहे.

First Published: Wednesday, June 19, 2019 03:49 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Dawood Ibrahim, Underworld Don Dawood Ibrahim, Bv Kumarm, Dilip Kumar Sisiter, Mumabi,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो