कस्टम मामले में नीरव मोदी 'फरार घोषित', 15 नवंबर तक पेश होने का आदेश

गुजरात की एक अदालत ने गुरुवार को भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को मार्च में दाखिल एक कस्टम ड्यूटी से बचने के मामले में 'फरार घोषित' किया है और 15 नवंबर को उसे पेश होने का आदेश दिया है.

News State Bureau  |   Updated On : November 08, 2018 11:59 AM
कस्टम मामले में नीरव मोदी 'फरार घोषित'

कस्टम मामले में नीरव मोदी 'फरार घोषित'

नई दिल्ली:  

गुजरात की एक अदालत ने गुरुवार को भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को मार्च में दाखिल एक कस्टम ड्यूटी से बचने के मामले में 'फरार घोषित' किया है और 15 नवंबर को उसे पेश होने का आदेश दिया है. समाचार पत्रों में जारी एक सार्वजनिक अधिसूचना में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 82 के तहत नीरव मोदी को फरार घोषित किया गया है, जिसके बाद उसे अग्रिम जमानत मिलना और भी मुश्किल हो सकता है. यह अधिसूचना सभी सरकारी व पुलिस विभाग भी भेजी गई है.

सूरत में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बीएच कपाड़िया ने 8 अगस्त को कस्टम विभाग द्वारा दाखिल याचिका को स्वीकार कर लिया और नीरव मोदी से अगले गुरुवार को अदालत के समक्ष पेश होने को कहा है.

और पढ़ें : नक्‍सलियों के गढ़ बस्‍तर में पांच साल बाद आ रहे हैं नरेंद्र मोदी, 30 साल पुराना है यहां से नाता

नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक के 13,500 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले सहित कई अन्य मामलों में प्रमुख आरोपी है. सूरत की अदालत में कस्टम उपायुक्त आरके तिवारी ने नीरव मोदी और उसकी तीन कंपनियों-फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड और रडाशीर ज्वैलरी को प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ याचिका दायर की है.

First Published: Thursday, November 08, 2018 11:49 AM

RELATED TAG: Nirav Modi, Proclaimed Absconder, Gujarat Court, Diamond International Pvt Ltd, Deputy Customs Commissioner R K Tiwary,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो