मध्य प्रदेश में हर रोज कुपोषण से 92 बच्चों की हो रही है मौत :AAP

इस दौरान अग्रवाल और गुप्ता ने कहा कि प्राकृतिक रूप से संपन्न मध्य प्रदेश में रोजाना दर्जनों बच्चों की मौत कुपोषण से होना गंभीर चिता का विषय है।

  |   Updated On : September 04, 2018 09:32 PM
हर रोज 92 बच्चों कुपोषण से तोड़ रहे है दम- आप (सांकेतिक चित्र)

हर रोज 92 बच्चों कुपोषण से तोड़ रहे है दम- आप (सांकेतिक चित्र)

इंदौर:  

आम आदमी पार्टी (आप) नेताओं ने मध्य प्रदेश में कुपोषण की बढ़ती दर पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि राज्य में हर रोज 92 बच्चे कुपोषण के कारण दम तोड़ देते हैं। मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष आलोक अग्रवाल और राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने मंगलवार को इंदौर जोन के जावरा, रतलाम, मंदसौर और नीमच में विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सेदारी की। इस दौरान अग्रवाल और गुप्ता ने कहा कि प्राकृतिक रूप से संपन्न मध्य प्रदेश में रोजाना दर्जनों बच्चों की मौत कुपोषण से होना गंभीर चिता का विषय है।

रतलाम में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए आलोक अग्रवाल ने प्रदेश की जर्जर शिक्षा एवं स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल करते हुए कहा कि सरकार ने 25000 से ज्यादा सरकारी स्कूलों को बंद कर दिया है। वर्तमान में 90 प्रतिशत स्कूलों में बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी प्रदेश सरकार नागरिकों की जरूरतों को पूरा करने में नाकाम रही है।

और पढ़ें: मध्यप्रदेश: लापरवाह नर्सों ने एक ही सिरिंज से लगा दी दर्ज़नों को सूई, 1 की मौत 25 की हालत गंभीर

उन्होंने कहा, 'प्रदेश में आवश्यकता के अनुपात में महज 50 प्रतिशत अस्पताल हैं। जो हैं, उनमें भी आधे से ज्यादा में डॉक्टर नहीं हैं। प्रदेश में 92 बच्चों की मौत हर रोज कुपोषण के कारण हो जाती है।'

राज्ससभा सांसद सुशील गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने कई जनोपयोगी योजनाओं की शुरुआत की है। इनका लाभ मध्यम वर्ग से लेकर गरीबों तक पहुंच रहा है। दिल्ली में सभी निजी स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें आíथक रूप से कमजोर वर्ग के लिए सरकार की ओर से आरक्षित हैं।

और पढ़ें: दिल्ली के बाद बिहार में भूख से दो बच्चों की मौत, प्रशासन का इंकार

उन्होंने बताया कि सभी निजी अस्पतालों में भी 10 प्रतिशत बिस्तर दिल्ली सरकार की ओर से जरूरतमंदों के लिए आरक्षित हैं। केंद्र सरकार के प्रतिनिधि उपराज्यपाल की वजह से हुई देरी के बावजूद दिल्ली सरकार 200 से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक खोल चुकी है, जहां 100 से ज्यादा प्रकार की दवाएं मुफ्त दी जाती हैं। 150 से ज्यादा जांचें मोहल्ला क्लीनिक में अमीर-गरीब का फर्क किए बगैर मुफ्त में की जाती हैं। दिल्ली सरकार की कुल 1500 मोहल्ला क्लीनिक खोलने की योजना है।

रतलाम के लोकेंद्र भवन में दिगम्बर जैन समाज की ओर से आयोजित मुनिश्री प्रणाम सागर के वचन कार्यक्रम में उपस्थित सांसद गुप्ता ने कहा, 'हम यदि अपने शरीर की सारी बुराइयों को छोड़ देंगे, तो स्वयं एवं परिवार के लिए काफी अच्छा महसूस करेंगे।'

First Published: Tuesday, September 04, 2018 09:08 PM

RELATED TAG: Madhya Pradesh, Malnutrition, Children, Aam Aadmi Party, Shivraj Singh Chouhan, Aap,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो