बीजेपी की राह पर कांग्रेस, सांसदों को सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने का दिया आदेश,पढ़ें पूरा पत्र

आगामी मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने मैदान में उतरने से पहले कमर कसना शुरू कर दिया है।

  |   Updated On : September 03, 2018 07:04 PM
कांग्रेस (फाइल फोटो)

कांग्रेस (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

आगामी मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने मैदान में उतरने से पहले कमर कसना शुरू कर दिया है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमिटी ने पार्टी के सदस्यों की सोशल मीडिया पर सक्रियता को अनिवार्य करने का निर्णय लिया है। एमपीसीसी ने अपने पार्टी के सदस्यों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि उनके फेसबुक पेज पर 15,000 लाइक, ट्विटर पर 5000  फॉलोवर हो। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमिटी ने एक पत्र जारी किया। कांग्रेस पार्टी सोशल मीडिया में मज़बूती की दिशा में कई कड़े कदम उठा रही है।

कमिटी ने आगामी विधान सभा चुनाव के प्रत्याशी चयन के पूर्व दावेदारों की सोशल मीडिया में सक्रियता का आकलन करने का भी निर्णय लिया गया है। फेसबुक पेज पर 15000 लाइक्स, ट्विटर पर पांच हज़ार फॉलोवर और सभी के पास बूथ के लोगों के व्हाट्सअप ग्रुप बनाना अनिवार्य होगा। पत्र में लिखा है कि  उपरोक्तानुसार कांग्रेस/पदाधिकारियों/ वर्तमान विधायकों और टिकट के दावेदारों को  15 सितम्बर 2018 तक ट्विटर, फेसबुक और व्हाट्सप्प की जानकारी मध्यप्रदेश कांग्रेस के सोशल मीडिया और आईटी डिपार्टमेंट में उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया है।

और पढ़ें: भगोड़े विजय माल्या को मुंबई कोर्ट ने दिया तीन हफ्तों का वक्त, 24 सितंबर तक देना होगा जवाब

बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही सोशल मीडिया पर पूरा ज़ोर दे रही है। दोनों पार्टियां सोशल मीडिया के जरिए ज्यादा से ज्यादा वोटर्स को लुभाना चाहती हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, युवा वोटरों को लुभाने के लिए बीजेपी के 'साइबर वॉरियर्स' और कांग्रेस के 'राजीव के सिपाही' पूरी कोशिश कर रहे हैं।

First Published: Monday, September 03, 2018 06:32 PM

RELATED TAG: Congress, Mp, Social Media, It Cell,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो