Cyclone Live Updates : ओडिशा-आंध्र प्रदेश में 'तितली' का कहर, 8 लोगों की मौत, बाढ़ का मंडरा रहा खतरा

गुरुवार सुबह 5:30 बजे 'तितली' तूफ़ान गंजम के गोपालपुर पहुंचा जिसकी वजह से कई जगह भूस्खलन की घटना भी सामने आई है.

News State Bureau  |   Updated On : October 12, 2018 12:08 PM
तितली चक्रवात

तितली चक्रवात

नई दिल्ली:  

ओडिशा के गोपालपुर में गुरुवार को 126 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ तूफान तितली ने दस्तक दी है. मौसम विभाग के अनुसार, तूफना तितली दक्षिणी ओडिशा -उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटों को पार कर गया है जिससे ओडिशा के आठ जिलों गंजम, गजपति, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रापड़ा, भद्रक और बालासोर में भारी बारिश हुई और कई पेड़ उखड़ गए। तीन लाख लोगों को यहां से सुरक्षित स्थानों की ओर जाना पड़ रहा है.

LIVE UPDATE-

# तितली तूफान के बाद ओडिशा में बाढ़ का खतरा

चक्रवात 'तितली' के प्रभाव के कारण गुरुवार सुबह से झारखंड के कुछ जिलों में बारिश हुई. आंध्र प्रदेश और ओडिशा के बीच आए तूफान के कारण झारखंड के रांची, जमशेदपुर और ओडिशा की सीमा से लगे हिस्सों में बारिश हुई है.

#तूफान के चलते गंजम, गजपति और पुरी में भारी बारिश हो रही है

ओडिशा के अब तक प्रभावित जिलों में गंजम, गजपति, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रापड़ा, भद्रक और बालासोर शामिल हैं.

# गृह मंत्रालय ने कहा- भयावह तूफान तितली ने श्रीकाकुलम जिले के पलासा के पास से आंध्र प्रदेश दक्षिण ओडिशा तट को दक्षिण-पश्चिम गोपालपुर की ओर पार किया. इसने तड़के 4.30 बजे से 5.30 बजे के बीच 140-150 किलोमीटर प्रतिघंटे से लेकर 165 किलोमीटर प्रतिघंटे की तेज रफ्तार हवाओं के साथ पार किया.

# आंध्रप्रदेश: चक्रवात तितली के कारण श्रीकुलुलम और विजयनगरम जिलों में 8 लोग मारे गए.विद्युत आपूर्ति और संचार प्रणालियों दोनों जिलों में प्रभावित. सड़कों को क्षतिग्रस्त होने के कारण तटीय गांवों  मुख्य धारा से कटा

# आंध्र प्रदेश में कई जगहों पर हुआ भूस्खलन, कई पेड़ गिरे.

#गोपालपुर में पांच मछुआरे जहाज समेत समुद्र में फंस गए थे, जिन्हें बचाव दल ने बाहर निकाला.

#ओडिशा में 'तितली' तूफान पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार और प्रशासन अलर्ट पर हैं. हर किसी के लिए यह आगे आने का समय है. मुझे उम्मीद है कि सबके सहयोग के साथ इस संकट से निपट लिया जाएगा

क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग ने बुधवार को अगले चार दिनों में चक्रवाती तूफान की वजह से दक्षिण बंगाल के छह जिलों में तेज हवा चलने और गरज के साथ तेज बारिश की चेतावनी जारी की है. यहां बारिश की वजह से पूरे प्रदेश में दुर्गा पूजा की तैयारियों में व्यवधान उत्पन्न हो सकता है. चक्रवाती तूफान 'तितली' बुधवार को बंगाल की खाड़ी के पास 'काफी खतरनाक चक्रवाती तूफान' का रूप ले रहा है और यह ओडिशा-आंध्रप्रदेश के तट की ओर बढ़ रहा है.

गुरुवार सुबह 5:30 बजे 'तितली' तूफ़ान गंजम के गोपालपुर पहुंचा जिसकी वजह से कई जगह भूस्खलन की घटना भी सामने आई है. बुधवार रात तक यहां के निचले इलाक़े से 10000 लोगों को बाहर निकाला गया है.

मुख्यमंत्री ने अफसरों को किया सचेत, लिया हालात का जायज़ा
ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से निचले इलाकों में रह रहे लोगों को तुरंत सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने को कहा है. उन्होंने यह भी सुनिश्चित करने को कहा है की चक्रवात के चलते किसी भी व्यक्ति की जान नहीं जानी चाहिए.

तेज बारिश संभव
आईएमडी ने 11 अक्टूबर से कंधमाल, बौध तथा ढेंकानाल जिले में भी भारी से अत्यंत भारी बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है. बारिश के साथ 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. ओडिशा सरकार को भी संभावित बाढ़ के हालात के मद्देनजर सतर्क कर दिया गया है.

छात्रसंघ चुनाव स्थगित
मुख्यमंत्री ने चक्रवात के मद्देनजर बृहस्पतिवार और शुक्रवार को सभी स्कूल-कॉलेजों और आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं. बृहस्पतिवार को होने वाले कॉलेज छात्रसंघ चुनाव भी स्थगित कर दिए गए हैं.

सेना की मदद मांग सकती है सरकार
मौसम विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में ‘‘भारी वर्षा’’ और कुछ इलाकों में ‘‘अत्यधिक भारी बारिश’’ का अनुमान जताया है. गंजाम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, नयागढ़, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में गुरुवार तक भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. दूसरी ओर, ओडिसा के मुख्य सचिव ने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो हम सेना की भी सहायता मांगेंगे.

केंद्र सरकार ने भेजे एक हजार एनडीआरएफकर्मी
केंद्र ने हालत से निपटने के लिए बुधवार को ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के तकरीबन 1,000 कर्मी भेजे हैं. साथ ही खाद्य सामग्री, ईंधन के भंडारण व बिजली आपूर्ति एवं दूरसंचार लाइनों को सुचारू रखने को भी कहा गया है.

LIVE UPDATES

# बुधवार रात तक यहां के निचले इलाक़े से 10000 लोगों को बाहर निकाला गया है.

# ओडिशा के गोपालपुर में भूस्खलन की घटना.

# गुरुवार सुबह 5:30 बजे 'तितली' तूफ़ान गंजम के गोपालपुर पहुंचा.

मौसम विभाग के अधिकारी ने कहा, "चक्रवाती तूफान मौजूदा समय में ओडिशा के गोपालपुर से दक्षिण-पूर्व दिशा में 240 किलोमीटर दूर है. इसके गुरुवार सुबह ओडिशा और आंध्रप्रदेश के तटीय इलाकों में पहुंचने की संभावना है और इसके बाद यह गांगेय पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ेगा."

उन्होंने कहा कि मैदानी इलाकों में आने के बाद तूफान की तीव्रता लगातार कमजोर होती जाएगी.

अधिकारी ने कहा, "चक्रवाती तूफान की वजह से 10 अक्टूबर से 13 अक्टूबर के बीच पश्चिम बंगाल के जिलों में मध्यम दर्जे से लेकर भारी बारिश हो सकती है, जबकि तटीय जिलों जैसे पूर्व व पश्चिम मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हुगली और हावड़ा में भारी बारिश होने की संभावना है."

मौसम कार्यालय के अनुसार, कोलकाता और हावड़ा में 12 व 13 अक्टूबर को अत्यधिक बारिश हो सकती है.

विभाग ने पश्चिम बंगाल, ओडिशा के तटों और उत्तर और मध्य बंगाल की खाड़ी के गहरे समुद्री क्षेत्रों में मछुआरों को 13 अक्टूबर तक नहीं जाने की सलाह दी है.

अधिकारी ने कहा, "14 अक्टूबर से आसमान साफ रहेगा, जिसका मतलब है कि 15 से 19 अक्टूबर तक दुर्गा पूजा उत्सव में मौसम अच्छा रहेगा."

First Published: Thursday, October 11, 2018 07:31 AM

RELATED TAG: Cyclone News, Cyclone Titli, Titli Cyclone, Cyclone In Odisha, Bhubaneswar Weather, Cyclone In Bay Of Bengal, Odisha Weather, Depression In Bay Of Bengal, Low Pressure In Bay Of Bengal, Cyclone In Odisha 2018, Weather Forecast Odisha, Cyclone Srikakulam,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो