नन ने बिशप पर लगाया यौन शोषण का आरोप, भड़के विधायक ने नन पर ही दिया शर्मनाक बयान

केरल की पूंजार सीट से निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने फ्रेंको मुलक्कल क न केवल बचाव किया बल्कि नन को लेकर एक शर्मसार करने वाला बयान दिया है। विधायक पीसी जॉर्ज ने नन को 'प्रॉस्टिट्यूट' बता दिया।

  |   Updated On : September 09, 2018 01:55 PM
नन ने बिशप पर लगाया यौन शोषण का आरोप (एएनआई)

नन ने बिशप पर लगाया यौन शोषण का आरोप (एएनआई)

नई दिल्ली:  

केरल की एक नन द्वारा जालंधर के एक बिशप फ्रेंको मुलक्कल पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद से कार्रवाई के बजाए विवादित बयानबाजी को लेकर मामाला ख़ूब सुर्खियां बटोर रहा है। केरल की पूंजार सीट से निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने फ्रेंको मुलक्कल क न केवल बचाव किया बल्कि नन को लेकर एक शर्मसार करने वाला बयान दिया है। विधायक पीसी जॉर्ज ने नन को 'प्रॉस्टिट्यूट' बताते हुए कहा, 'सबको पता है कि वो प्रॉस्टिट्यूट है। 12 बार यह आपके लिए मजा होता है और 13वीं बार रेप बन जाता है। उसके साथ जब यह पहली बार हुआ था तो उसने इसकी शिकायत क्यों नहीं की।'

राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) प्रमुख रेखा शर्मा ने निर्दलीय विधायक (विधि बनानेवाला) के बयान पर शर्मिंदगी ज़ाहिर करते हुए कहा, 'मैं विधायक के बयान सुनकर बेहद शर्मिंदा हूं। वो महिला की मदद करने के बजाए इस तरह का बयान दे रहे हैं। राष्ट्रीय महिला आयोग ने मामले को संज्ञान में ले लिया है। हम इस बारे में डीजीपी (महानिदेशक) को ख़त लिखकर कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध करेंगे।'

रेखा शर्मा ने आगे कहा, 'मैने नन से मुलक़ात की है। वह बिशप के ख़िलाफ़ प्रदर्शन और अपने लिए न्याय की मांग कर रही थी। चर्च उसे राशन और वेतन जैसी मूलभूत अधिकार से महरूम रखे हुए है। मैने नन को काफी परेशान देखा था।'

सीपीएम नेता सुभाषिनी अली सहगल ने विधायक के बयान की निंदा करते हुए कहा, 'नन ने किसी संस्था के प्रमुख के ख़िलाफ़ बोलेने की हिम्मत दिखाई है और इस तरह के हालात में कोई राजनेता इस तरह का बयान दे रहा है जो भयानक है।'

वहीं इस मामले को लेकर बिशप के ख़िलाफ़ होने वाली कार्रवाई की जानकारी देते हुए डीजीपी लोकनाथ बेहेरा ने कहा, 'पुलिस महानिरीक्षक (IG) को जालंधर के बिशप फ्रेंको मुलक्कल के ख़िलाफ़ लगे आरोप की जांच जल्द से जल्द पूरी करने का आदेश दिया गया है। उन्होंने बताया है कि जांच का काम चल रहा है। हमने इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपने को लेकर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है।'

गौरतलब है कि कैथोलिक ननों के एक समूह ने बिशप द्वारा कथित रूप से एक नन का यौन उत्पीड़न करने के मामले में रविवार को अपराध शाखा की जांच का विरोध किया। समूह की एक सदस्य ने मीडिया से कहा, 'हमने सुना है कि अपराध शाखा की जांच को लेकर योजना बनाई जा रही है। यह केवल कानूनी कार्रवाई में देरी करने के लिए है। हम वर्तमान पुलिस जांच से खुश हैं। उच्च अधिकारी नहीं चाहते हैं कि हमें न्याय मिले।'

कोट्टायम में शनिवार को एक कैथोलिक कॉन्वेंट से जुड़ी ननों ने, जहां से पीड़ित भी जुड़ी हुई थी, यहां 'ज्वाइंट क्रिश्चयन काउंसिल' द्वारा शुरू एक अनिश्चतकालीन अनशन में शामिल हुईं, ताकि राज्य सरकार पर रोमन कैथोलिक सभा के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलाक्कल के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दबाव डाल सके।

और पढ़ें- राम माधव का फ़ारूक़ पर निशाना, कहा- 35ए को लेकर पंचायत चुनाव का विरोध तो करगिल चुनाव क्यों लड़े

विरोध इसलिए किया गया क्योंकि मामला 75 दिन पहले दर्ज होने के बावजूद पुलिस ने पीड़ित के 12 बयान लिए लेकिन आरोपी बिशप का सिर्फ एक बयान लिया गया।

First Published: Sunday, September 09, 2018 12:48 PM

RELATED TAG: Kerala, Pc George, Nun Rape Case, Kerala Nun, Jaladhar Bishop Franco Mullackal,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो