कठुआ रेप के खिलाफ केरल बंद से जनजीवन प्रभावित, लगे RSS विरोधी नारे

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक बच्ची से रेप और उसकी हत्या के खिलाफ कुछ सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा बुलाए गए बंद से केरल के कुछ हिस्सों में सामान्य जनजीवन पर असर पड़ा।

  |   Updated On : April 16, 2018 03:02 PM
कठुआ रेप के खिलाफ प्रदर्शन (फाइल फोटो)

कठुआ रेप के खिलाफ प्रदर्शन (फाइल फोटो)

कोझिकोड:  

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची से रेप और उसकी हत्या के खिलाफ कुछ सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा बुलाए गए बंद से केरल के कुछ हिस्सों में सामान्य जनजीवन पर असर पड़ा। पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।

बंद से बुरी तरह से प्रभावित जिलों में कोझिकोड, कन्नूर, मल्लपुरम, पलक्कड व तिरुवनंपुरम के कुछ हिस्से रहे।

कठुआ में आठ साल की लड़की से हुए रेप के खिलाफ सोशल मीडिया पर रविवार को अभियान शुरू हुआ जिसके बाद सोमवार को बंद आयोजित किया गया।

नाराज प्रदर्शनकारियों ने यातायात जाम कर दिया और दुकानों को जबर्दस्ती बंद कराया। प्रदर्शनकारियों ने आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) विरोधी नारे भी लगाए।

बसों व दूसरे वाहनों को सोमवार सुबह चलने नहीं दिया गया। हालांकि, पुलिस के प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के बाद यातायात बहाल हुआ।

कोझिकोड, कन्नूर व पलक्कड़ में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया। कन्नूर जिले में कुछ प्रदर्शनकारियों व दुकानदारों के बीच कहासुनी हो गई।

युवक की पहचान सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के सदस्य के तौर पर की गई है। एसडीपीआई पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की राजनीतिक शाखा है।

बंद की वजह से प्रभावित इलाके एसडीपीआई के गढ़ माने जाते हैं, जिसमें राजधानी के उपनगरीय इलाके भी शामिल हैं।

और पढ़ें: कठुआ और उन्नाव केस पर पूर्व नौकरशाहों ने PM को लिखा खुला पत्र

First Published: Monday, April 16, 2018 02:52 PM

RELATED TAG: Kathua Rape Case, Kerala, Kerala Bandh Against Kathua Rape, Protest, Kojhikode, Kerala,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो