Internationa Yoga Day: भारत के ये हैं बड़े योगगुरु, जिसने दुनिया में योग को समृद्ध बनाया

News State Bureau  |   Updated On : June 21, 2019 09:36:13 AM
योग करते जवान

योग करते जवान

नई दिल्ली:  

Internationa Yoga Day 2019: विश्वभर में आज पांचवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (Internationa Yoga Day 2019) मनाया जा रहा है. अगर योग से जुड़ी कोई बात करते हैं तो आप बाबा रामदेव (Baba Ramdev) का नाम जरूर लेते हैं. इसी क्रम में क्या आप जानते हैं कि भारत में योग परंपरा को समृद्ध बनाने में किन फेमस योग गुरुओं का योगदान था.

यह भी पढ़ें ः International Yoga Day 2019: योगमय हुआ दुनिया, किसी ने पानी में तो किसी ने माइनस डिग्री में किए आसान

आज विदेशभर से लोग भारत में योग सीखने आते हैं. यह उन्हीं योग गुरुओं की कठिन मेहनत का नतीजा है. 21 जून को पूरी दुनिया योगमय हो गई है. इस खास मौके पर आपको बताते हैं उन 7 योग गुरुओं के बारे में जिनकी बदौलत योग पूरी दुनिया में मशहूर हो गया.

धीरेंद्र ब्रह्मचारी

धीरेंद्र ब्रह्मचारी इंदिरा गांधी के योग टीचर के रूप में जाने जाते हैं. इन्होंने दूरदर्शन चैनल से योग को बढ़ावा देने का काम शुरू किया. साथ ही उन्होंने दिल्ली के स्कूलों और योग को विश्वयातन योगआश्रम में योग को शुरू करवाया है. उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी भाषा में कई किताबें लिखकर योग को बढ़ावा दिया है. जम्मू में उनका एक आलीशान आश्रम भी है.

यह भी पढ़ें ः International Yog Diwas: योग दिवस पर महाराष्ट्र के नांदेड़ में योग करते दिखे बाबा रामदेव, देवेंद्र फडणवीस ने भी दिया साथ

बीकेएस अयंगर

बीकेएस अंयगर ने योग को दुनियाभर में पहचान दिलाने में एक अहम भूमिका निभाई है. 'अंयगर योग' के नाम से उनका एक योग का स्कूल भी है. इस स्कूल से उन्होंने दुनियाभर के लोगों को योग के प्रति जागरूक किया था. साल 2004 में 'टाइम मैगजीन' ने उनका नाम दुनिया के टॉप 100 प्रभावशाली लोगों में शुमार किया गया था. इसके अलावा उन्होंने पतंजलि के योग सूत्रों को नए सिरे से परिभाषित किया. 'लाइट ऑन योग' के नाम से उनकी एक किताब भी है, जिसको योग बाइबल माना जाता है.

यह भी पढ़ें ः International Yoga Day 2019 Live Updates: PM मोदी और शिल्पा शेट्टी के साथ पूरी दुनिया ने किया योग

महर्षि महेश योगी

महर्षि महेश योगी देश और दुनिया में 'ट्रांसैडेंटल मेडिटेशन' के जाने-माने गुरु थे. कई सेलिब्रिटीज भी उन्हें अपना गुरु मानते हैं. दुनियाभर में वो अपने योग से जाने जाते हैं. श्रीश्री रविशंकर भी महर्षि महेश योगी के शिष्य हैं.

तिरुमलाई कृष्णमचार्य

तिरुमलाई कृष्णमचार्य को 'आधुनिक योग का पिता' कहा जाता है. हठयोग और विन्यास को फिर से जीवित करने का श्रेय उन्हें ही जाता है. तिरुमलाई कृष्णमचार्य को आयुर्वेद की भी जानकारी थी. इलाज के लिए उनके पास आए लोगों को वो योग और आयुर्वेद की मदद से ही ठीक किया करते थे. उन्होंने मैसूर के महाराजा के राज के समय में पूरे भारत में योग को एक नई पहचान दिलाई थी.

यह भी पढ़ें ः International Yoga Day 2019: योग करते वक्त ध्यान रखें ये खास बातें, नहीं तो हो सकता है नुकसान

कृष्ण पट्टाभि जोइस

कृष्ण पट्टाभि जोइस भी एक बड़े योग गुरु थे. उनका जन्म 26 जुलाई 1915 और निधन 18 मई 2009 को हुआ था. कृष्ण ने अष्टांग विन्यास योग शैली विकसित की थी. उनके अनुयायियों में मडोना, स्टिंग और ग्वेनेथ पाल्ट्रो जैसे बड़े नाम शुमार थे.

परमहंस योगानंद

परमहंस योगानंद अपनी किताब 'ऑटोबायोग्राफी ऑफ अ योगी' के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने पश्चिम के लोगों को मेडिटेशन और क्रिया योग से परिचित कराया. इतना ही नहीं, परमहंस योगानंद योग के सबसे पहले और मुख्य गुरु है. उन्होंने अपना ज्यादातर जीवन अमेरिका में गुजारा था.

यह भी पढ़ें ः International Yoga Day 2019: योग दिवस के दिन पीएम मोदी ने दिया लोगों को खास संदेश

स्वामी शिवानंद सरस्वती

स्वामी शिवानंद सरस्वती पेशे से डॉक्टर थे. उन्होंने योग, वेदांत और कई अन्य विषयों पर लगभग 200 से ज्यादा किताबें लिखी हैं. 'शिवानंद योग वेदांत' के नाम से उनका एक योग सेंटर है. उन्होंने अपना पूरा जीवन इसी सेंटर को समर्पित कर दिया था. उन्होंने योग के साथ कर्म और भक्ति को एकजुट कर के दुनियाभर में योग का प्रचार किया था.

First Published: Jun 21, 2019 08:43:09 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो