उमा भारती ने कहा, मैं भगवान राम नहीं, जो दलित के घर खाना खाऊं

बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि वो राम नहीं कि दलितों के घर जाकर भोजन करें। बल्कि वो चाहेंगी कि दलित उनके घर आकर भोजन कर उन्हें धन्य करें।

  |   Updated On : May 02, 2018 10:36 AM

नई दिल्ली :  

बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि वो राम नहीं कि दलितों के घर जाकर भोजन करें। बल्कि वो चाहेंगी कि दलित उनके घर आकर भोजन कर उन्हें धन्य करें।

मध्‍य प्रदेश के छतरपुर में दलितों के साथ भोजन करने को लेकर उन्होंने कहा, 'हम भगवान राम नहीं है कि दलितों के साथ भोजन करेंगे तो वे पवित्र हो जाएंगे। जब दलित हमारे घर आकर साथ बैठकर भोजन करेंगे तब हम पवित्र हो जाएंगे। दलित को जब मैं अपने घर में अपने हाथों से परोसूंगी तब मेरा घर धन्य हो जाएगा।'

उमा भारती ने दलितों को दिल्‍ली आने का निमंत्रण दिया और कहा कि दलितों को दिल्ली के घर में भोजन कराएंगीं।

उन्होंने कहा कि उनके भतीजे की पत्‍नी खाना बनाएंगी और वो खुद उन्‍हें खाना परोसेंगी। उनका भतीजा जूठे बर्तनों को साफ करेगा तब वह धन्य और पवित्र होंगी।

और पढ़ें: जस्टिस जोसफ की नियुक्ति को लेकर कॉलेजियम की बैठक आज

First Published: Wednesday, May 02, 2018 10:27 AM

RELATED TAG: Uma Bharti, Dalit,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो