क्या 'वेलफेयर स्कीम्स' से 2019 में होगा बीजेपी का बेड़ा पार?

अहम सवाल ये कि क्या लोककल्याणकारी योजनाओं के सहारे ही मोदी सरकार 2019 में सत्ता पर काबिज़ हो सकेगी? या कुछ और मुद्दे ही जीत का आधार बनेंगे?

  |   Updated On : June 11, 2018 03:32 PM
देखिए 'इंडिया बोले' सोमवार शाम 6:00 बजे न्यूज़ नेशन पर

देखिए 'इंडिया बोले' सोमवार शाम 6:00 बजे न्यूज़ नेशन पर

ख़ास बातें
  •  बीजेपी ने दावा किया कि 2019 की चुनावी जीत का आधार विकासपरक योजनाएं होगी
  •  मोदी सरकार ने चार साल पूरे होने पर दिया 'साफ नीयत सही विकास' का नारा
  •  देखिए 'इंडिया बोले' इस सोमवार शाम 6 बजे सिर्फ न्यूज़ नेशन टीवी पर

नई दिल्ली:  

मोदी सरकार ने चार साल पूरे होने पर 'साफ नीयत सही विकास' का नारा दिया। इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के तमाम बड़े नेता देश भर में जाकर सरकार की उपलब्धियां गिना रहे हैं। दावा कर रहे हैं कि 2019 की चुनावी जीत का आधार विकासपरक योजनाएं होंगी।

वैसे सरकारी आंकड़ों पर नजर डालें तो साल 2014 में प्रति व्यक्ति आय 86,647 रुपये थी, जो बढ़कर 1,12,835 रुपये हो चुकी है।

कांग्रेस के दौरान गांवों में हर दिन 69 किलोमीटर सड़क बना करती थी, आज वो बढ़कर 134 किमी प्रति दिन हो चुकी है। कृषि कर्ज को बढ़ाकर 11 लाख करोड़ रुपये किया जा चुका है।

12.5 करोड़ सॉयल हेल्थ कार्ड बांटे जा चुके हैं तो 4.05 करोड़ किसानों को कृषि बीमा का फायदा देने का दावा किया जा रहा है। मोदी सरकार के मुताबिक 18 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई गई है।

3.8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन दिए जा चुके हैं। सरकार साल 2022 तक हर किसी के पास मकान होने का वादा कर रही है। वहीं 50 करोड़ लोगों के लिए 5 लाख की हेल्थ इंश्योरेंस वाली आयुष्मान योजना का भी जमीन पर उतरना अभी बाकी है। मानों कोशिश 'न्यू इंडिया' बनाने की है।

यकीनन मोदी सरकार के पास गिनाने के लिए ढेरों लोककल्याणकारी योजनाएं हैं, तो वहीं विपक्ष के पास लव जिहाद, असहिष्णुता, गौरक्षा के नाम पर कथित गुंडागर्दी, राम मंदिर पर टकराव, पाकिस्तान जाने की नसीहत, उग्र राष्ट्रवाद और हिंदुत्व पर नेताओं के भड़काऊ बयान और दलितों पर अत्याचार जैसे आरोप हैं!

भारतीय राजनीति में ऐसे कई उदाहरण हैं, जबकि लोककल्याणकारी योजनाओं के सहारे ही सियासी जीत मिलती रही है। फिर चाहे वो यूपीए के लिए मनरेगा और किसानों की कर्ज माफी हो, या यूपी में बीजेपी के लिए उज्ज्वला जैसी योजना।

हालांकि वाजपेयी सरकार का 'शाइनिंग इंडिया' का नारा भी था तो कुछ ऐसा ही, लेकिन जीत नहीं मिल सकी थी।

ऐसे में अहम सवाल ये कि क्या लोककल्याणकारी योजनाओं के सहारे ही मोदी सरकार 2019 में सत्ता पर काबिज़ हो सकेगी? या कुछ और मुद्दे ही जीत का आधार बनेंगे?

वोटर के ज़ेहन में भी क्या होगा — विकास या कुछ और? इसी जरूरी मुद्दे पर मेरे साथ देखिए देश के सबसे पसंदीदा डिबेट शो में से एक 'इंडिया बोले', इस सोमवार शाम 6 बजे सिर्फ न्यूज़ नेशन टीवी पर।

और पढ़ें: देशभर के एम्स में खुलेंगे योग, आयुष केंद्र: अश्विनी चौबे

First Published: Sunday, June 10, 2018 04:51 PM

RELATED TAG: Modi Government, Bjp, India Bole, Narendra Modi, Nda, 2019 Lok Sabha Election,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो