BREAKING NEWS
  • आडवाणी की जगह अमित शाह पहले बारी लोकसभा चुनाव में ठोकेंगे ताल, वाराणसी से मोदी होंगे मैदान में- Read More »
  • Lok Sabha Elections 2019 : बीजेपी ने जारी की अपनी पहली लिस्ट, देखें VIP सीटों पर कौन कहां से लड़ेगा- Read More »
  • BJP Candidates List जारी, आडवाणी का पत्ता कटा, मोदी वाराणसी से तो अमित शाह लड़ेंगे गांधी नगर से चुनाव- Read More »

चीन-पाकिस्तान को देने मात, भारत 21 हजार करोड़ रु की मदद से सीमा पर बनाएगा 44 सड़कें

News State Bureau  |   Updated On : January 14, 2019 06:55 AM
फोटो - इंडियन डिफेंस रिव्यू

फोटो - इंडियन डिफेंस रिव्यू

नई दिल्ली:  

देश की सीमाओं को मजबूत करने और किसी भी विपरीत परिस्थिति में सेना को सीमा तक पहुंचाने के लिेए भारत सरकार ने बड़ा रणनीतिक फैसला लेते हुए सीमाई राज्यों में 44 सड़कों के निर्माण का फैसला लिया है. पश्चिम में दुश्मन देश पाकिस्तान और उत्तर पूर्व में चीन की चालाकियों को मात देने के लिए मोदी सरकार ने 21 हजार करोड़ रुपये की मदद से करीब 44 सड़कों के निर्माण का आदेश दिया है. इन 44 सड़कों की कुल लंबाई करीब 2100 किलोमीटर होगी जिसके बनने के बाद मुश्किल और पहाड़ी इलाकों में कम से कम समय में भारतीय सेना चीन सीमा या फिर पाकिस्तान सीमा तक पहुंच जाएगी. किसी भी युद्ध की परिस्थिति को देखते हुए भारत सरकार के इस फैसले को बेहद अहम माना जा रहा है.

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद इन सभी सीमा से सटे सड़कों का निर्माण जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्यों में होगा जहां भारत की सीमा सीधे पाकिस्तान या फिर चीन से सटी हुई है.

और पढ़ें: IED एक्‍सपर्ट था खूंखार आतंकी जीनत-उल-इस्लाम, मुठभेड़ में साथी समेत ढेर

एकतरफ जहां भारत से सटे सीमा पर चीन तेजी से अपने इलाकों में आधारभूत संरचना को मजबूत करने में जुटा हुआ है ऐसे में भारत के लिए यह बेहद अहम है कि सेना की पहुंच सीमा तक बनाने के लिए सड़कों का निर्माण कराया जाए क्योंकि अरुणाचल और उत्तराखंड में कई ऐसे इलाके हैं जो बेहद दुर्गम हैं और वहां तक सेना को पहुंचने में काफी समय लगता है.

सीमा से सटे इन सड़कों के निर्माण का आदेश इसी महीने जारी हुई सीपीडब्ल्यूडी की सालाना रिपोर्ट के मोदी सरकार ने यह आदेश दिया है. इस निर्माण का मुख्य मकसद कम से कम समय में सेना को सीमा के आखिरी छोर तक पहुंचाना है. हालांकि अभी इस परियोजनाओं का पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति से पास होना बाकी है.

और पढ़ें: हिंद महासागर में बढ़ीं चीन की गतिविधियां, जानें नौसेना प्रमुख ने क्‍यों जताई चिंता

गौरतलब है कि साल 2017 में सिक्किम के डोकलाम में सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन की सेना आमने-सामने आ गई थी और टकराव की स्थिति बन गई थी. 70 दिनों के गतिरोध के बाद समझौते के तहत दोनों देश की सेना पीछे हटी थी. जिस जगह चीनी सैनिक सड़क निर्माण कर रहे थे वो भूटान की जमीन थी जिसपर चीन अपना दावा जताता रहा है. चूंकि भूटान जैसे छोटे देश के साथ भारत का सामरिक सुरक्षा समझौता है इसलिए भारतीय सेना ने चीन सैनिकों को विरोध किया था.

यहां देखिए वीडियो

First Published: Sunday, January 13, 2019 07:44 PM

RELATED TAG: India China Border, Troops On China Border, Road Network On Pakistan Border,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

News State ODI Contest
Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो