बांगलादेश से रोहिंग्या शरणार्थियों का पहला परिवार लौटा स्वदेश

म्यांमार के अधिकारियों ने रविवार को घोषणा की कि व्यापक हिंसा के बाद भागकर बांग्लादेश गए रोहिंग्या शरणार्थियों का पहला परिवार स्वदेश लौट आया है।

  |   Updated On : April 15, 2018 07:03 PM
रोहिंग्या शरणार्थियों का पहला परिवार (फोटो आईएएनएस)

रोहिंग्या शरणार्थियों का पहला परिवार (फोटो आईएएनएस)

नेपीतॉ:  

म्यांमार के अधिकारियों ने रविवार को घोषणा की कि व्यापक हिंसा के बाद भागकर बांग्लादेश गए रोहिंग्या शरणार्थियों का पहला परिवार स्वदेश लौट आया है। हालांकि, संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि इनका लौटना सुरक्षा की दृष्टि से ठीक नहीं है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते साल अगस्त में शुरू हुए क्रूर सैन्य अभियान से बचने के लिए करीब 700,000 रोहिंग्याओं ने राखाइन राज्य छोड़ दिया था।

अधिकारियों ने कहा कि एक मुस्लिम परिवार के पांच सदस्य शनिवार को एक 'स्वदेश वापसी शिविर' में पहुंचे और उन्हें खाद्य आपूर्ति व राष्ट्रीय सत्यापन कार्ड प्रदान किए गए।

म्यांमार रोहिंग्या शब्द का इस्तेमाल नहीं करता है।

यह कार्ड एक तरह का पहचानपत्र है, जो नागरिकता नहीं देता है और इसे बांग्लादेश शिविरों में रोहिंग्या नेताओं ने अस्वीकार किया है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, म्यांमार द्वारा रोहिंग्या परिवार के पहुंचने की घोषणा से पहले शनिवार को संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने चेतावनी दी कि म्यांमार में लौटने के लिए 'अभी भी स्थितियां सुरक्षित व सम्मानजनक व अनुकूल नहीं हैं।'

बांग्लादेश में शरणार्थी शिविरों में छोटी संख्या में नए लोगों का पहुंचना जारी है, जबकि म्यांमार शासन का दावा है कि वह लौटने वालों को शरण देने के लिए तैयार है।

और पढ़ेंः कठुआ गैंगरेपः अगर वकील पाए गए दोषी तो रद्द कर दिया जाएगा लाइसेंसः मनन कुमार मिश्रा

First Published: Sunday, April 15, 2018 06:59 PM

RELATED TAG: Rohingya Family, Returns To Myanmar, News In Hindi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो