BREAKING NEWS
  • विराट कोहली की जुबानी सुनें टीम के ड्रेसिंग रूम की कहानी- Read More »
  • 74 साल के हुए अजीम प्रेमजी, 53 साल में 12 हजार गुना बढ़ाया विप्रो का कारोबार- Read More »
  • 1 कुत्ता आपको बना सकता है धनवान, सावन में बस आपको करना होगा यह काम- Read More »

पश्चिम बंगाल प्रकरण पर आखिर चुनाव आयोग का क्या कहना है, आप भी जानें

News Nation Bureau  |   Updated On : May 16, 2019 01:44 PM
File Pic

File Pic

ख़ास बातें

  •  बंगाल प्रकरण में चुनाव आयोग का जवाब
  •  बंगाल में हिंसा की पांच बड़ी घटनाए हुई
  •  सीएपीएफ ने वोटरों से की थी अभद्रता

नई दिल्ली:  

पश्चिम बंगाल के गृह सचिव को हटाने को लेकर चुनाव आयोग ने कारण स्पष्ट कर दिया है आयोग का कहना है कि गृहसचिव ने राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को एक पत्र भी लिखा था, इससे पहले चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर सख्त रुख दिखाते हुए राज्य में चुनाव प्रचार में 19 घंटे की कटौती कर दी थी. इसके साथ ही एडीजी सीआईडी राजीव कुमार को तत्काल प्रभाव से कार्यमुक्त कर दिया था. इसके साथ राज्य के गृह सचिव को भी कार्यमुक्त कर दिया गया था.

आयोग ने अपने आदेश में कहा था, 'राज्य के गृह सचिव चुनाव आयोग का आदेश मानने की बजाय उसे निर्देश देने की कोशिश कर रहे थे' अत्री भट्टाचार्य ने अपने पत्र में लिखा था कि राज्य में सैन्य पुलिस बलों को किस तरह से तैनात करना चाहिए.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आरिफ आफताब को लिखे गए पत्र में भट्टाचार्य ने लिखा था, 'चुनाव आयोजित कराने के दौरान सीएपीएफ को तैनात करने के संबंध में अच्छी खबरें नहीं हैं. आप 12 मई को सीएपीएफ द्वारा फायरिंग की घटना के बारे में जानते होंगे. इस तरह की पांच घटनाएं हुईं हैं इसके अलावा सीएपीएफ की तरफ से वोट देने के लिए लाइन में लगे मतदाताओं से अभद्र व्यवहार करने और बिना अधिकार क्षेत्र के लाठी चार्ज कने की भी खबरें हैं.'

First Published: Thursday, May 16, 2019 01:38 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Election Commission, West Bengal Home Secreatry, Bangal Violence, Adg Cid Rajiv Kumar,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो