CWC में सबने माना बेतुके बयानों और अनुशासनहीनता से हुआ चुनाव में नुकसान, की कार्रवाई की मांग

पार्टी ने माना है कि अय्यर और सिब्बल के बयानों से गुजरात चुनावों में पार्टी के प्रदर्शन पर बुरा असर पड़ा है। सदस्यों ने बेतुके बयान देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की।

  |   Updated On : December 22, 2017 11:48 PM
CWC ने पार्टी में बढ़ती अनुशासनहीनता पर जताई चिंता (INC)

CWC ने पार्टी में बढ़ती अनुशासनहीनता पर जताई चिंता (INC)

नई दिल्ली:  

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में पार्टी में बढ़ रही अनुशासनहीनता का मुद्दा प्रमुख रूप से उठाया गया। खासकर चुनावों के दौरान मणिशंकर अय्यर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहे जाने पर भी चर्चा की गई।

पार्टी ने माना है कि अय्यर और सिब्बल के बयानों से गुजरात चुनावों में पार्टी के प्रदर्शन पर बुरा असर पड़ा है। सदस्यों ने बेतुके बयान देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की।

राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद पहली हुई कार्य समिति की बैठक में हालांकि किसी का नाम नहीं लिया गया। लेकिन कुछ सदस्यों ने पार्टी नेताओं द्वारा गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान दिये गए 'बेतुके' बयानों का मुद्दा उठाया। उनका कहना था कि इसका असर चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन पर भी पड़ा।

ये मुद्दा उस समय उठा जब पार्टी के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने कुछ दिनों पहले ही कहा था कि अय्यर और सिब्बल ने अपने बयानों ने गुजरात चुनाव में राहुल गांधी के प्रचार से पार्टी को हुए फायदे को बर्बाद कर दिया।

और पढ़ें: राहुल गांधी का हमला, कहा बीजेपी की स्थापना ही झूठ की नींव पर हुई

चुनावों में अय्यर के बयानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुद्दा बनाया था। अय्यर ने पीएम मोदी को 'नीच किस्म का आदमी' कहा था। पीएम ने इस बयान के गुजरात की अस्मिता पर हमला करार दिया था।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और वकील कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट से बाबरी मस्जिद राम जन्मभूमि के मसले को 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद सुनवाई करने का निवेदन किया था। पार्टी नेताओं का कहना था कि इससे भी चुनावों पर असर पड़ा है।

हालांकि पार्टी ने अय्यर को पार्टी से निलंबित कर दिया था और सिब्बल के बयानों से खुद को दूर कर लिया था।

सूत्रों का कहना है कि अनुशासनहीनता और बयानबाजी के मसले को समिति के कई सदस्यों ने उठाया और चर्चा की। इन लोगों ने बेलगाम नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की।

और पढ़ें: हिमाचल में सीएम पद पर सस्पेंस बरकरार, बीजेपी पर्यवेक्षक वापस लौटे

सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर सहमति जताई। साथ ही उन्होंने कहा, 'हम कोशिश करेंगे कि अनुशासन बना रहे और पार्टी मज़बूत हो।'

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पार्टी के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में चर्चा की और कहा कि नेताओं पर जिम्मेदारियां तय की जाएं।

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक के बाद हुई प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के मीडिया इंचार्ज रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'कार्य समिति इस बात को लेकर सहमत थी कि चुनावों में जिसस तरह का माहौल पार्टी के लिये बना है उसे और मज़बूत करने की ज़रूरत है। ताकि अगले चुनावों में कांग्रेस को जात मिल सके।'

और पढ़ें: रुपाणी को दोबारा गुजरात की कमान, नितिन पटेल बनेंगे डिप्टी सीएम

First Published: Friday, December 22, 2017 11:03 PM

RELATED TAG: Cwc, Congress, Indiscipline, Pm Modi, Rahul Gandhi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो