बुलंदशहर हिंसा : मुख्य आरोपी योगेश राज का वीडियो आया सामने, कहा- मैं घटनास्थल नहीं था मौजूद

बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज ने बुलंदशहर हिंसा की घटना पर सफाई देते हुए कहा कि जब पुलिस इंस्पेक्टर को गोली लगी थी वह थाने में रिपोर्ट दर्ज करवा रहा था.

News State Bureau  |   Updated On : December 05, 2018 04:45 PM
बुलंदशहर में बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज (फोटो : Video Grab)

बुलंदशहर में बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज (फोटो : Video Grab)

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में सोमवार को हुई हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या मामले में मुख्य आरोपी बताए जा रहे बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज ने पहली बार एक वीडियो जारी कर इस घटना पर अपनी सफाई दी है. योगेश कुमार ने 'जय श्री राम' के उद्बोधन के साथ वीडियो में कहा, 'जैसा कि आप लोग बुलंदशहर के स्याना में हुई गोकशी प्रकरण को देख रहे होंगे, इसमें पुलिस मुझे इस प्रकार प्रस्तुत कर रही हो जैसे कि मेरा बहुत बड़ा आपराधिक इतिहास हो.'

योगेश राज ने वीडियो में कहा, 'मैं आप सब लोगों को बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटनाएं घटित हुई थी. पहली घटना स्याना के नजदीक गांव महाब में गोकशी की हुई थी जिसकी सूचना पाकर मैं अपने साथियों सहित मौके पर पहुंचा था. प्रशासनिक लोग भी वहां पहुंचे थे और मामले को शांत करके हम सभी साथियों सहित स्याना थाने में मुकदमा दर्ज कराने थाने पहुंचा था.'

उसने बताया कि, 'थाने में बैठे-बैठे जानकारी मिली कि उक्त स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव किया है और वहां पर फायरिंग भी हुई है जिसमें एक युवक को गोली लगी है और एक पुलिसवाले को भी गोली लगी है. जब हमारी मांग पूर्ण कर स्याना थाने में मुकदमा लिखा जा रहा था तो बजरंग दल कोई आंदोलन प्रदर्शन क्यों करता?'

योगेश ने कहा, 'मैं दूसरी घटना में उक्त स्थान पर मौजूद नहीं था. मेरा दूसरी घटना से कोई लेना-देना नहीं है. ईश्वर मुझे न्याय दिलाएंगे मुझे ऐसा भगवान पर पूर्ण भरोसा है. धन्यवाद.'

इससे पहले मंगलवार को एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने हिंसा का शिकार हुए इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को शहीद बताते हुए बताया था कि इस मामले में 88 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिसमें 27 लोग नामजद हैं. इनमें से चार लोगों- चमन, रामबल, आशीष चौहान और सतीश की गिरफ्तारी हुई है.

और पढ़ें : बुलंदशहर हिंसा: सीएम योगी गुरुवार को सुबोध कुमार के परिजनों से करेंगे मुलाकात

एडीजी ने बताया था कि एसआईटी घटनास्थल पर पहुंच गई है और अपना काम कर रही है. ये खुफिया एजेंसी की असफलता है या किसी और की, जांच रिपोर्ट आने पर ही पता चलेगा.

उन्होंने कहा था कि मुख्य आरोपी योगेश राज की तलाश सरगर्मी से जारी है. मारे गए युवक सुमित का पोस्टमार्टम हो चुका है. उसके शरीर में गोली पाई गई. उन्होंने स्वीकार किया कि हिंसा के दौरान पुलिस ने हवाई फायरिंग की थी.

और पढ़ें : बुलंदशहर हिंसा पर क्या कहती है FIR की कॉपी, यहां पढ़ें पूरी रिपोर्ट

बुलंदशहर में हिंसा के दौरान स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में स्याना कोतवाली में उपनिरीक्षक सुभाष सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई है. इसमें बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज, भाजपा युवा स्याना के नगराध्यक्ष शिखर अग्रवाल और विहिप कार्यकर्ता उपेंद्र राघव को भी नामजद किया गया है. अभी तक तीनों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.

First Published: Wednesday, December 05, 2018 04:30 PM

RELATED TAG: Bulandshahr Violence, Bajrang Dal, Yogesh Raj, Subodh Kumar Singh, Bulandshahr, Uttar Pradesh, Lynching,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो