बुलंदशहर हिंसा: जीतू फौजी के बचाव में उतरे भाई ने CM योगी से लगाई मदद की गुहार, कहा- साजिश के तहत फंसाया जा रहा

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोलीबारी की घटना में कथित रूप से संलिप्त एक जवान का नाम सामने आया.

News State Bureau  |   Updated On : December 08, 2018 08:44 PM
जीतू के भाई धर्मेंद्र मलिक (फोटो-ANI)

जीतू के भाई धर्मेंद्र मलिक (फोटो-ANI)

नई दिल्ली :  

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोलीबारी की घटना में कथित रूप से संलिप्त एक जवान का नाम सामने आया. जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को सोपोर में 22 राष्ट्रीय राइफल्स द्वारा हिरासत में लिया गया. इस मामले में जीतू फौजी का भाई बचाव में उतरा है. जीतू के भाई धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि उसके भाई को फंसाया जा रहा है. धर्मेंद्र मलिक ने कहा, 'मेरे भाई को किसी साजिश के तहत फंसाया जा रहा है. जीतू इंस्पेक्टर की हत्या में शामिल नहीं है. मेरे पास सबूत है कि जीतू उस वक़्त घटनास्थल पर मौजूद नहीं था. मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगाता हूं.'

इससे पहले अलीगढ़ पुलिस ने बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजनों को 11 लाख रुपए की आर्थिक मदद की. अलीगढ़ के एसएसपी ने कहा, सुबोध कुमार के परिजनों की मदद के लिए पुलिस विभाग ने 11 लाख रुपये की मदद का एलान किया है. इंस्पेक्टर के परिजनों को हर प्रकार की सहायता दी जाएगी.

बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और पुलिस पर हमला करने के मामले में दर्ज एफआईआर में जीतू फौजी का नाम भी शामिल है.

इस मामले पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा, अगर कुछ सबूत हैं और पुलिस को लगता है वह संदिग्ध है, तो हम पुलिस के सामने पेश करेंगे. हम पूरी तरह से पुलिस के साथ सहयोग करेंगे.

बुलंदशहर में बिगड़ी स्थिति को संभालने में नाकामयाब रहे तीन पुलिस अधिकारियों के तबादले कर दिए गए है. इस हमले में एक पुलिस अधिकारी सहित एक शख्स की मौत हो गई थी. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कृष्णा बहादुर सिंह, सर्किल ऑफिसर (सीओ) सत्या प्रकाश शर्मा और चिंगरावठी पुलिस चौकी के प्रभारी सुरेश कुमार का सोमवार को क्षेत्र में बिगड़ी स्थिति में संभालने में नाकाम रहने के लिए तबादला कर दिया गया है.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में हुए बवाल स्याना थाने के इंस्पेक्टर की मौत हो गई. हत्या के बाद इलाके में तनाव का माहौल है, जिसे देखते हुए कई जिलों की पुलिस, पीएसी और आरएएफ को बुला लिया गया है. मामले में गृह विभाग भी पैनी नजर बनाए हुए है. प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार मामले में पल.पल की अपडेट ले रहे हैं. प्रमुख सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बुलंदशहर के एसपी और डीएम से मामले की पूरे मामले में पैनी नजर रखने को कहा है. सिंह के परिवार में उनकी पत्नी सुनीता और दो बच्चे हैं. उनका बड़ा बेटा श्रेय एमबीए कर रहे हैं जबकि छोटा बेटा अभिषेक इंजीनियरिंग का छात्र है.

First Published: Saturday, December 08, 2018 08:42 PM

RELATED TAG: Bulandshahr Violence,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो