केंद्र सरकार के पास एक्सपर्ट का अभाव, कई दिनों से रुका है दरभंगा एयरपोर्ट का निर्माण

बिहार में दरभंगा एयरपोर्ट का निर्माण पिछले कई दिनों से रुका हुआ है। केंद्र सरकार का कहना है कि एयरपोर्ट के लिए रनवे निर्माण क्षेत्र में विशेषज्ञों की कमी इसकी बड़ी वजह है।

  |   Updated On : August 24, 2018 05:20 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  

बिहार में दरभंगा एयरपोर्ट का निर्माण पिछले कई दिनों से रुका हुआ है। केंद्र सरकार का कहना है कि एयरपोर्ट के लिए रनवे निर्माण क्षेत्र में विशेषज्ञों की कमी इसकी बड़ी वजह है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सरकार अपने वादे के अनुरूप अगले साल जनवरी से दरभंगा एयरपोर्ट का परिचालन शुरू कर पाएगी। सरकारी की महत्वाकांक्षी परियोजना 'सब उड़े सब जुड़े' देश के कई छोटे शहरों में समस्याओं का सामना कर रही है। जिससे सरकार के दावों पर भी सवाल उठ रहा है।

नागरिक उड्ययन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 'सरकार की महत्वकांक्षी योजना 'सब उड़े सब जुड़े' समस्याओं का सामना कर रही है। बिहार में दरभंगा एयरपोर्ट को शुरू नहीं किया गया है कि मंत्रालय रनवे निर्माण के लिए विशेषज्ञों को नहीं खोज पा रही है।'

उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को कहा, 'यह एक महत्वाकांक्षी और लोकप्रिय योजना है और बिहार में कई जगहों पर पुरानी मांग है। हम चाहते थे कि यह प्रोजेक्ट इस साल के अंत तक पूरा हो जाय तो लेकिन अब यह असंभव दिख रहा है।'

दरभंगा एयरपोर्ट भारतीय वायुसेना के अंदर आती है और यह केंद्र सरकार के रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम (RCS) का हिस्सा है। सरकार अभी भी आशांवित है और चाहती है कि 2019 लोक सभा चुनाव से पहले यह प्रोजेक्ट पूरा हो जाय। मंत्रालय ने 10 जुलाई को बताया था कि वह एयरपोर्ट को जनवरी 2019 तक शुरू करना चाहती है।

नागरिक उड्ययन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने ट्वीट कर बताया था, 'बिहार में एयरपोर्ट्स के स्थिति का जायजा लिया। हम अधिक एयरपोर्ट शुरू कर बड़े स्तर पर कनेक्टिविटी को सुधार के लिए प्रतिबद्ध हैं। राज्य सरकार से विनती की है कि बिहार के लिए स्टेट एविएशन पॉलिसी बनाए।'

और पढ़ें: पीएम मोदी के 'उड़ान' योजना के तहत जगदलपुर और इलाहाबाद से हवाई सेवा शुरू

जयंत सिन्हा की ओर से मंत्रालय ने 10 जुलाई को ट्वीट कर कहा था, 'बिहटा में पटना के दूसरे एयरपोर्ट, दरभंगा और गया में नए टर्मिनल की स्थिति का निरीक्षण किया। शहर के आस-पास के इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरतों का देखा गया। आशा है कि जनवरी 2019 तक दरभंगा एयरपोर्ट शुरू हो जाएगा और गया के लिए अधिक फ्लाइट्स जोड़ी जाएगी।'

इस साल के जनवरी महीने में ही बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा था कि दरभंगा से उड़ान योजना के तहत अगले छह महीने में मुंबई, बेंगलुरु और दिल्ली के लिए विमान सेवा प्रारंभ हो सकती है।

सुशील मोदी ने बताया था कि पटना हवाई अड्डे के नए टर्मिनल का काम इस साल अप्रैल महीने में प्रारंभ हो जाएगा, इसी के साथ पटना के बिहटा में हवाई अड्डे के लिए राज्य सरकार द्वारा अधिग्रहित 108 एकड़ जमीन शीघ्र ही एयरपोर्ट ऑथरिटी को सौंप दी जाएगी।

सुशील मोदी ने कहा था कि दो विमानन कंपनियां स्पाइस जेट और इंडिगो ने उड़ान योजना के तहत दरभंगा से मुंबई, बेंगलुरु और दिल्ली की सेवा के लिए निविदा दी है। वायु सेना के अधीन दरभंगा हवाई अड्डे पर टर्मिनल भवन और प्रवेश के लिए अगर सरकार जमीन उपलब्ध करा देती है, तो अगले छह महीने में वहां से उड़ान सेवा प्रारंभ हो सकती है।

देश की अन्य ताज़ा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें... https://www.newsstate.com/india-news

First Published: Friday, August 24, 2018 05:01 PM

RELATED TAG: Darbhanga Airport Construction, Bihar, Udan Scheme, Airport Construction, Flight, Regional Connectivity Scheme, Sab Ude Sab Jude,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो