मुजफ्फरपुर: आरोपी बृजेश ठाकुर के एक और बालिका गृह से 11 लड़कियां लापता, केस दर्ज

इस मामले को लेकर अब सियासत गर्मा रही है। संसद परिसर में आरजेडी सांसदों ने अपना विरोध दर्ज कराते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

  |   Updated On : July 31, 2018 12:10 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

बिहार:  

मुजफ्फरपुर बालिका गृह के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। उसके खिलाफ मंगलवार को एक और केस दर्ज हुआ है, जिसमें बृजेश के दूसरे आश्रय गृह से 11 लड़कियों के गायब होने का आरोप है।

इससे पहले बृजेश ठाकुर के पहले बालिका गृह में रह रहीं 41 लड़कियों में से 34 से दुष्कर्म की पुष्टि हुई थी। इस मामले में बिहार सरकार सीबीआई जांच के आदेश दे चुकी है। सीबीआई की टीम केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है।

इस मामले को लेकर अब सियासत गर्मा रही है। संसद परिसर में आरजेडी सांसदों ने अपना विरोध दर्ज कराते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

ये भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले पर राहुल ने कसा पीएम मोदी और सीएम नीतीश पर तंज, कहा- ये है 'आश्वासन बाबू' और 'सुशासन बाबू' की कहानी

राहुल गांधी-तेजस्वी यादव ने साधा निशाना

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुजफ्फरपुर में शेल्टर होम के अंदर लड़कियों के साथ रेप की घटना के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर तंज कसा था। राहुल ने कहा यह उनकी कहानी है, जिन्होंने राज्य में सुशासन का नारा दिया है।

वहीं, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था, 'बालिका गृह में गर्भपात से जुड़ी हुई दवाइयां और सामान इस्तेमाल किए जाते थे। इतना ही नहीं इस मामले में मुख्य संदिग्ध ब्रजेश ठाकुर को सरकारी सुरक्षा मिली हुई है। उसकी गिरफ्तारी कब होगी? जब तक राज्य में नाबालिग लड़कियां रेप की शिकार होती रहेंगी?

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

गौरतलब है कि इस केस का खुलासा तब हुआ, जब मुंबई की संस्था टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइसेंस की टीम ने बालिका गृह के सोशल ऑडिट रिपोर्ट में यौन शोषण का उल्लेख किया।

इसके बाद मुजफ्फरपुर महिला थाने में इस मामले की प्राथमिकी दर्ज कराई गई। इसके बाद लड़कियों के चिकित्सकीय जांच में भी यहां की 41 लड़कियों में से 29 लड़कियों के साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई थी। बाद में मुजफ्फरपुर पुलिस महानिरीक्षक (एसएसपी) हरप्रीत कौर ने बताया कि बालिका गृह में 29 नहीं बल्कि 34 लड़कियों के साथ दुष्कर्म हुआ।

ये भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 42 में 34 बच्चियों के साथ हुआ रेप, तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

पीड़ित लड़कियों की कराई गई काउंसिलिंग

इन लड़कियों को मधुबनी, मोकामा और पटना के बालिका गृह भेजा गया है। पीड़ित लड़कियों का मनोवैज्ञानिक उपचार किया जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि मनोचिकित्सा काउंसलिंग और थेरेपी के जरिए लड़कियों की मानसिक पीड़ा और तनाव को दूर किया जा रहा है। पीड़ित लड़कियों में अधिकांश मानसिक पीड़ा झेल रही हैं। 

बता दें कि इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई ने बिहार सरकार के आग्रह पर बालिका गृह में काम करने वाले कर्मचारी और अधिकारियों पर केस दर्ज किया है। अब तक मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें: ईरान के राष्ट्रपति रुहानी से मिलने को तैयार हैं डोनाल्ड ट्रंप

First Published: Tuesday, July 31, 2018 11:28 AM

RELATED TAG: Bihar, Muzaffarpur,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो