कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ आज देश भर में हल्ला बोलेंगे कांग्रेसी कार्यकर्ता, गहलोत ने लिखी चिट्ठी

गहलोत ने सभी कांग्रेस प्रदेश कार्यालयों को चिट्ठी लिखकर अपील की है कि सभी कार्यकर्ता और नेता कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करें।

  |   Updated On : May 18, 2018 08:50 AM
अशोकल गहलोत (फाइल फोटो)

अशोकल गहलोत (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाए जाने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ शुक्रवार को कांग्रेस कार्यकर्ता देश भर में सड़कों पर उतरेंगे।

पार्टी महासचिव अशोक गहलोत ने सभी प्रदेश कार्यालयों को चिट्ठी लिखकर पार्टी कार्यकर्ता और नेताओं को राज्यपाल के इस फैसले के खिलाफ राज्यों की राजधानी और जिला मुख्यालय पर धरना देने का अाह्वान किया है।

बता दें कि कर्नाटक में तीन दिन से जारी सियासी उठा-पटक के बीच बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार सुबह 9 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। सबसे बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को रोकने के लिए कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन दिया था।

सरकार बनाने को लेकर जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी कई बार राज्यपाल से भी मिले थे। हालांकि कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिया।

'राज्यपाल ने मोदी के लिए संविधान का बलिदान किया'

कांग्रेस ने गुरुवार को कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला पर 'दिन-दहाड़े लोकतंत्र की हत्या करने' और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए लोकतंत्र व संविधान का बलिदान करने का आरोप लगाया।

पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उसे पूर्ण विश्वास है तो वह शुक्रवार तक कर्नाटक विधानसभा में अपना बहुमत साबित करे।

पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कांग्रेस और जनता दल सेकुलर द्वारा सरकार बनाने का दावा पेश करने के बावजूद बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा को शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित करने पर राज्यपाल पर निशाना साधा।

सुरजेवाला ने कहा, 'यह बीएस येदियुरप्पाजी का शपथ ग्रहण समारोह नहीं था, बल्कि यह लोकतांत्रिक मूल्यों, न्यायिक फैसलों और स्थापित उदाहरणों को धूमिल करती एक बदसूरत तस्वीर थी।'

कांग्रेस नेता ने कहा जब राज्यपाल ने येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया तो उन्होंने संविधान का पहला एनकाउंटर किया।

उन्होंने कहा, 'आज (गुरुवार को) जब इस प्रक्रिया में वजुभाई वाला ने बीएस येदियुरप्पा को शपथ दिलाई, तो उन्होंने दूसरी बार संविधान का एनकाउंटर किया, संविधान और लोकतंत्र की हत्या की।'

येदियुरप्पा को बताया एक दिन का मुख्यमंत्री

येदियुरप्पा को 'एक दिन का मुख्यमंत्री' बताते हुए सुरजेवाला ने कहा कि उनकी स्थिति कांग्रेस और जेडी-एस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका की शुक्रवार को सुनवाई के नतीजों पर निर्भर करेगी।

राज्यपाल पर निशाना साधते हुए सुरजेवाला ने कहा, 'उन्होंने दिन-दहाड़े लोकतंत्र की हत्या की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संविधान और लोकतंत्र से ज्यादा महत्व दिया है।'

सुरजेवाला ने कहा, 'इससे पहले वजुभाई वाला ने मोदी के पक्ष में गुजरात विधानसभा की सीट का बलिदान किया था और गुरुवार सुबह उन्होंने मोदीजी के लिए संविधान और लोकतंत्र का बलिदान कर दिया।'

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

First Published: Thursday, May 17, 2018 05:56 PM

RELATED TAG: Karnataka, Karnataka Election, Karnataka Election Result, Congress, Ashok Gehlot, Prostest,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो