BREAKING NEWS
  • पुलवामा हमला : गुजरात में अपनी शादी से पहले जोड़े ने कुछ इस तरह दी शहीदों को श्रद्धांजलि , देख कर हैरान रह गए लोग- Read More »
  • पुलवामा जैसी आतंकी घटना बिना सुरक्षा चूक के नहीं हो सकती है : पूर्व रॉ प्रमुख- Read More »
  • Google ने अगर इस तकनीकी को कर लिया डेवलप तो जानें क्या इस्तेमाल करना होगा आसान- Read More »

2019 लोकसभा चुनाव: यूपी में गठबंधन पर मायावती की दो टूक, कहा- सम्मानजनक सीटों से ही संभव

News State Bureau  |   Updated On : September 16, 2018 04:45 PM
बीएसपी सुप्रीमो मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती

नई दिल्ली:  

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर यूपी में संभावित महागठबंधन पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि गठबंधन उसी स्थिती में होगा जब उन्हें सम्मानजनक सीटों प्राप्त होंगी. बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि गठबंधन तभी होगा जब हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी, नहीं तो बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेगी. मायावती ने इसको लेकर रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. 

बीजेपी के खिलाफ यूपी में गठबंधन पर मायावती ने कहा, 'हम किसी भी जगह और किसी भी चुनाव में गठबंधन के लिए तैयार हैं लेकिन यह तभी होगा जब हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी. ऐसा नहीं हुआ तो बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेगी.'

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने पिछले साल मई में सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव में हुई जातीय हिंसा के मामले में गिरफ्तारी के बाद हाल ही में रिहा किये गये ‘भीम आर्मी‘ के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण पर भी दो टूक निशाना साधा है.

उन्होंने रावण के साथ किसी भी तरह से कोई नाता होने से इंकार किया.

और पढ़ें: विजय माल्या मामले पर मोदी सरकार के साथ आई शिवसेना, कहा- 2019 चुनावों के लिए कांग्रेस कर रही दुष्प्रचार 

मायावती ने कहा ‘मैं देख रही हूं कि कुछ लोग अपने राजनीतिक स्वार्थ में तो कुछ लोग अपने बचाव में और कुछ लोग खुद को नौजवान दिखाने के लिये कभी मेरे साथ भाई-बहन का तो कभी बुआ-भतीजे का रिश्ता जोड़ रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि सहारनपुर के शब्बीरपुर में हुई हिंसा के मामले में अभी हाल में रिहा हुआ व्यक्ति (चंद्रशेखर उर्फ रावण) उनके साथ बुआ का नाता जोड़ रहा है, दरअसल, उनका कभी भी ऐसे लोगों के साथ कोई सम्मानजनक रिश्ता नहीं कायम हो सकता.अगर ऐसे लोग वाकई दलितों के हितैषी होते तो अपना संगठन बनाने की बजाए बसपा से जुड़ते.

और पढ़ें: बिहार के बाद असम में भी आया मॉब लिंचिंग का मामला, चोरी के शक में भीड़ ने पीट कर की हत्या

मालूम हो कि मई 2017 में सहारनपुर जिले के शब्बीरपुर में हुई जातीय हिंसा के मामले में गिरफ्तार किये गये ‘भीम आर्मी‘ के संस्थापक चंद्रशेखर को 14 सितम्बर को रिहा किया गया था. रिहाई के बाद उन्होंने कहा था कि मायावती उनकी बुआ हैं और उनका उनसे कोई विरोध नहीं है.

First Published: Sunday, September 16, 2018 02:28 PM

RELATED TAG: Mayawati, Lok Sabha Election, Chandra Shekhar, Bjp, Bahujan Samaj Party,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो