भीमा कोरेगांव हिंसा मामलाः आरोपियों की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और एक वकील की गिरफ्तारी के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करेगा।

  |   Updated On : August 29, 2018 04:52 PM
सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भीमाकोरे गांव हिंसा मामले में मंगलवार को गिरफ्तार हुए वामपंथी विचारकों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट में आज पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और एक वकील की गिरफ्तारी के खिलाफ याचिका पर सुनवाई होगी। प्रसिद्ध इतिहासकार रोमिला थापर और कार्यकर्ता माजा दारुवाला ने यह याचिका दाखिल की है। इन पांचों को मंगलवार को कथित नक्सली संबंध के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि इस मामले पर सुनवाई दोपहर बाद 3.45 बजे की जाएगी।

थापर, दारुवाला और तीन अन्य कार्यकर्ताओं की तरफ से अदालत में पेश वकील प्रशांत भूषण ने अदालत से मामले में तत्काल सुनवाई का आग्रह किया, जिसके बाद प्रधान न्यायाधीश ने यह बात कही।

और पढ़ें: जानें भीमा कोरे गांव में क्यों हुई थी हिंसा, क्या है इसका इतिहास...

महाराष्ट्र पुलिस ने पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं सुधा भारद्वाज, वरवर राव, गौतम नवलखा, वेरनोन गोंसालविस और अरुण फेरेरिया को मंगलवार को गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने जनजातीय अधिकार कार्यकर्ता सतन स्वामी व आनंद तेलतुम्बड़े व अन्य के घर में छापा भी मारा था। गौरतलब है कि यह सभी गिरफ्तारियां भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा मामले में हुई थी।

और पढ़ें: भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में PM मोदी की हत्या की साजिश रचने को लेकर 5 राज्यों मे छापेमारी

इस केस की जांच के दौरान पुलिस ने दावा किया था कि उन्हें ऐसी चिट्ठी मिली थी जिसमें पीएम मोदी को मारने की साजिश पर बातचीत हो रही थी।

First Published: Wednesday, August 29, 2018 12:56 PM

RELATED TAG: Bhima Koregaon, Maoist, Arrested, Hearing In Sc,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो