केजरीवाल सरकार ने शुरू किया 'डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेज स्कीम', 10 सितम्बर से मिलेगा लाभ

इस योजना के लॉन्च होने से दिल्ली के लोगों को बर्थ सर्टिफिकेट, राशन कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस जैसी 40 बुनियादी सुविधाओं के लिए ऑफ़िस के चक्कर नहीं लगाने होंगे।

  |   Updated On : September 01, 2018 08:32 AM
अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री, दिल्ली (पीटीआई)

अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री, दिल्ली (पीटीआई)

नई दिल्ली:  

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार 10 सितंबर से अपनी महत्वाकांक्षी योजना 'डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेज' शुरू करने जा रही है। केजरीवाल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। निश्चित रूप से दिल्ली वासियों को लिए यह एक राहत की ख़बर है। इस योजना के लॉन्च होने से दिल्ली के लोगों को बर्थ सर्टिफिकेट, राशन कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस जैसी 40 बुनियादी सुविधाओं के लिए ऑफ़िस के चक्कर नहीं लगाने होंगे। अरविन्द केजरीवाल ने इसे 'रिवॉल्यूशन इन गवर्नेंस' बताते हुए कहा है कि इससे भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी।

क्या है डोर स्टेप डिलीवरी स्कीम

इस योजना के तहत पिज्ज़ा सर्विस के तर्ज़ पर आपके एक कॉल पर आपके घर के दरवाजे पर मोबाइल-सहायक आएगा। अच्छी बात यह है कि वो आपके तय किए समय पर ही आएगा यानि की आप जब भी घर पर मौजूद हों उसे बुला सकते हैं। केजरीवाल सरकार का दावा है कि सर्विस देने के लिए घर आने वाला मोबाइल-सहायक जनता के तय वक़्त और तारीख़ पर आएगा।

और पढ़ें- जैन मुनि तरुण सागर महाराज का हुआ निधन, दो दिनों से थे हॉस्पिटल में भर्ती

इतना ही नहीं इस स्कीम के तहत आपको किसी तरह की काग़ज़ात, फीस या मशीन से ऊंगिलयों के निशान लेने संबंधी किसी भी सुविधा के लिए बाहर जाने की ज़रूरत नहीं होगी यानि कि सब घर बैठे ही।

First Published: Saturday, September 01, 2018 08:25 AM

RELATED TAG: Arvind Kejriwal, Doorstep Delivery Of Services, Governance, Convenience, World,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो