BREAKING NEWS
  • महिला सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, रेप से जुड़े मामले में 2 महीने में मिलें न्याय- Read More »

IND vs AFG: मोहम्मद शमी की हैट्रिक ने भारत को हार से बचाया, 11 रन से जीता मैच

News State Bureau  |   Updated On : June 22, 2019 11:33:34 PM
INDvAFG: मोहम्मद शमी की हैट्रिक ने भारत को हार से बचाया, 11 रन से जीता

INDvAFG: मोहम्मद शमी की हैट्रिक ने भारत को हार से बचाया, 11 रन से जीता (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

आईसीसी (ICC) विश्व कप (World Cup) के 28वें मैच में लो स्कोर मैच का थ्रिलर देखने को मिला. टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम साउथैम्पटन के रोज बाउल स्टेडियम की धीमी पिच पर संघर्ष करती दिखी और अफगानी गेंदबाजों के सामने 8 विकेट खोकर महज 224 रन ही बना सकी. लो स्कोर मैच का दबाव विराट कोहली पर साफ देखने को मिला जिन्होंने मैच के शुरुआती ओवर्स में ही डीआरएस लिया और खराब होने के बाद अंपायर से काफी देर तक निर्णय को लेकर बहस करते दिखे. भारत की ओर से बनाए गए 224 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफगानिस्तान (Afghanistan) की टीम ने आखिरी ओवर तक भारतीय टीम की सांस रोक दी लेकिन आखिरी ओवर में मोहम्मद शमी की हैट्रिक के चलते भारतीय टीम ने 11 रन से जीत दर्ज कर ली है. विश्व कप (World Cup) में यह लगातार दूसरा मैच है जब लो स्कोर मैच थ्रिलर देखने को मिला है, इससे पहले शुक्रवार को श्रीलंका ने 232 रनों का बचाव करते हुए इंग्लैंड को 212 रन पर ऑल आउट कर दिया.

अफगानिस्तान (Afghanistan) की टीम ने संभली हुई शुरुआत करते हुए हजरतुल्लाह जजाई को 10 रन के स्कोर पर मोहम्मद शमी ने बोल्ड कर पहला विकेट चटकाया. इसके बाद गुलबदीन नईब (27) और रहमत शाह (36) ने 44 रन की साझेदारी कर अफगानिस्तान (Afghanistan) की पारी को आगे बढ़ाया. हार्दिक पांड्या ने गुलबदीन नईब को विजय शंकर के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा.

और पढ़ें: World Cup: इंग्लैंड पर श्रीलंका की शानदार जीत पर वीरेंद्र सहवाग ने दिया बड़ा बयान, कहा अब विश्व कप में..

इसके बाद हशमतुल्लाह शाहिदी (21) ने रहमत शाह के मिलकर 36 रन की साझेदारी की, इस दौरान अफगानिस्तान (Afghanistan) की टीम धीरे-धीरे अपने लक्ष्य की ओर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ती दिख रही थी. तभी जसप्रीत बुमराह ने 3 गेंद में 2 विकेट लेकर भारत को वापस मैच में ले आए.

जसप्रीत बुमराह ने पहले रहमत शाह को युजवेंद्र चहल और फिर हशमतुल्लाह को खुद कैच पकड़कर 3 गेंद में 2 विकेट झटके. इस दौरान अफगानिस्तान (Afghanistan) के लिए मोहम्मद नबी (52) दूसरे छोर से पारी को आगे बढ़ा रहे थे. नजीबुल्लाह जारदान ने इसमें उनका बखूबी साथ दिया और 36 रनों की साझेदारी की.

अफगानिस्तान (Afghanistan) को आखिरी ओवर में जीत के लिए 16 रन की दरकार थी, मोहम्मद नबी ने पहली ही गेंद पर चौका लगाकर भारतीय फैन्स की दिल की धड़कनें बढ़ा दी थी. दूसरी गेंद पर नबी ने रन लेने से इंकार कर दिया. इसके बाद मोहमम्द शमी ने 3 गेंद में 3 विकेट लेकर अफगानिस्तान (Afghanistan) की पूरी टीम को 213 रन पर ऑल आउट कर दिया और भारतीय टीम को 11 रन से जीत दिलाई.

और पढ़ें: टीम इंडिया के धराशायी होने से लेकर सरफराज की बेइज्जती तक, पढ़ें दिनभर के 5 सबसे बड़े खेल समाचार

इससे पहले अफगानिस्तान (Afghanistan) ने एक बार फिर अपनी गेंदबाजी का दम दिखाते हुए भारत के मजबूत बल्लेबाजी आक्रमण को 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 224 रनों पर ही रोक दिया. भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज- विराट कोहली (67) और केदार जाधव (52) ही अर्धशतक जमा पाए बाकी कोई और बल्लेबाद बड़ी पारी नहीं खेल सका और न ही तेजी से रन बना पाए.

भारतीय बल्लेबाज शुरू से ही रनों के लिए संघर्ष कर रहे थे. पांचवें ओवर की दूसरी गेंद पर जब टीम का स्कोर सिर्फ सात रन था तभी मुजीब उर रहमान ने रोहित शर्मा (1) को बोल्ड कर भारत को बड़ा झटका दिया.

कोहली और लोकेश राहुल ने अच्छी तरह टीम को संभाला और कुछ हद तक रनगति भी बढ़ाई, लेकिन राहुल, मोहम्मद नबी की गेंद पर रिवर्स स्वीप करने की गलती कर बैठे और शॉर्ट थर्ड मैन पर हजरतुल्लाह जाजई ने उनका आसान सा कैच लपका. राहुल का विकेट 64 के कुल स्कोर पर गिरा. उन्होंने 53 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 30 रन बनाए.

और पढ़ें: World Cup: साउथैम्पटन में विराट के नाम दर्ज हुआ यह आंकड़ा, मोहम्मद अजहरुद्दीन के रिकॉर्ड की बराबरी

चौथे नंबर पर आए विजय शंकर के पास बड़ी पारी खेलने का बेहतरीन मौका था, लेकिन वह 41 गेंदों पर 29 रनों से आगे अपनी पारी को नहीं ले जा पाए. 122 के कुल स्कोर पर वह रहमत शाह की गेंद पर पगबाधा आउट करार दे दिए गए. शंकर ने रिव्यू लिया जो असफल रहा. इस बीच कोहली ने अपने वनडे करियर का 52वां अर्धशतक जमा दिया था, लेकिन नबी की गेंद पर कट करने गए कोहली को रहमत ने लपक लिया. कोहली ने 63 गेंदों पर पांच चौके लगाए.

भारत का स्कोर 30.3 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 135 रन था. यहां भारत के लिए संकट की घड़ी थी, और अब उसका दारोमदार महेंद्र सिंह धोनी और जाधव पर था. दोनों ने मिलकर भारत के खाते में 57 रनों का इजाफा किया.

धोनी के सामने रनगति तेज करने का दवाब था. इसी दवाब में धोनी ने राशिद खान को निकल कर मारने के प्रयास किया और अपने वनडे करियर में दूसरी बार स्टम्पिंग आउट हुए. इससे पहले वो 20 मार्च 2011 को चेन्नई में वेस्टइंडीज के खिलाफ देवेंद्र बिशू गेंद पर स्टम्प हुए थे. इत्तेफाक से धोनी दोनों बार अपने वनडे करियर में विश्व कप (World Cup) में ही स्टम्प हुए हैं. धोनी ने 52 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 28 रन ही बनाए.

और पढ़ें: World Cup: साउथैम्पटन में एमएस धोनी हुए स्टंप आउट, करियर में दूसरी बार किया यह काम

धोनी के बाद हार्दिक पांड्या से तेजी से रन बनाने की उम्मीद थी जो जल्दी खत्म हो गई. पांड्या ने सिर्फ सात रन बनाए. मोहम्मद शमी ने एक रन बनाया. शमी के बाद जाधव भी गुलबदीन की गेंद पर नूर अली जादरान को कवर्स पर आसान सा कैच देकर पवेलियन लौट लिए. उन्होंने 68 गेंदों की पारी में तीन चौके और एक छक्का मारा. कुलदीप यादव और जसप्रीत बुमराह एक-एक रन बनाकर आउट हुए.

नैब और मोहम्मद नबी ने दो-दो विकेट लिए. मुजीब उर रहमान, आफताब आलम, राशिद खान, रहमत शाह को एक-एक विकेट मिला.

First Published: Jun 22, 2019 11:31:53 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो