बीएचयू प्रशासन उपद्रवियों को लेकर सख्त, 50 छात्रों पर गिरी गाज

वाराणसी स्थित बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बीते कुछ वर्षो में हुए उपद्रवों को लेकर अब प्रशासन ने सख्त रवैया अख्तियार किया

  |   Updated On : July 19, 2018 10:23 AM
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

वाराणसी:  

उत्तर प्रदेश के वाराणसी स्थित बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बीते कुछ वर्षो में हुए उपद्रवों को लेकर अब प्रशासन ने सख्त रवैया अख्तियार कर लिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन की मानें तो कड़ा फैसला लेकर भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने का प्रयास किया गया है।

बीएचयू प्रशासन से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि प्रवेश प्रक्रिया के बीच अलग-अलग फैकल्टी और विभागों में 50 छात्रों के दोबारा प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इन पर पिछले तीन साल में घटी घटनाओं को आधार बनाते हुए कार्रवाई की गई है।

अधिकारी ने बताया कि छात्रों के निलंबन के साथ ही इन्हें प्रवेश सहित अन्य सुविधाओं से वंचित करते हुए इसकी सूचना संबंधित संकायों, विभागों के प्रमुख, परीक्षा नियंत्रक आदि को भी दी गई है।

और पढ़ें- अविश्वास प्रस्ताव पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष का दावा, अनजान फोन से आया कॉल, कहा-मेरे प्रभाव में हैं 37 सांसद, दूंगा आपका साथ

 उप कुलसचिव (शिक्षण) की ओर से छात्रों की सूची सभी संस्थानों के निदेशक, संकाय प्रमुख, विभागाध्यक्ष, कॉलेजों के प्रिंसपल, परीक्षा नियंत्रक, चीफ प्रॉक्टर को भी भेजी गई है।

बीएचयू की चीफ प्राक्टर प्रो रोयाना सिंह के मुताबिक, पूर्व में हुई घटनाओं में जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई हुई है। परिसर का माहौल अशांत करने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई होगी, इसलिए छात्रों को इस तरह की गतिविधियों में शामिल होने से बचना चाहिए।

और पढ़ें- बिहार को मिले विशेष राज्य का दर्जा, पप्पू यादव ने लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

 
First Published: Thursday, July 19, 2018 10:00 AM

RELATED TAG: Varansi, Bhu, Banaras Hindu University, Bhu Administration,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो