BREAKING NEWS
  • प्रयागराज में गंगा-यमुना का रौद्र रूप देख खबराए लोग, खतरे के निशान से महज एक मीटर नीचे है जलस्तर- Read More »
  • जरूरत पड़ी तो UP में भी लागू करेंगे NRC, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का बड़ा बयान- Read More »
  • India's First SC-ST IAS Officer: जानिए देश के पहले SC-ST आईएएस की कहानी- Read More »

अपने बच्‍चे को जंक फूड से करें दूर, नहीं तो चली जाएगी आंखों की रोशनी

एजेंसी  |   Updated On : September 06, 2019 08:49:36 PM
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

लंदन:  

अगर आपका बच्‍चा जंक फूड (Junk Food) खाने का शौकीन है तो उसके इस शौक पर अभी लगाम लगाइए वरना पछताने के सिवा आपको कुछ नहीं मिलेगा. अगर यकीन नहीं हो तो इस खबर को पढ़िए. आपकी आंखें खुल जाएंगी. एक 17 साल के किशोर की आंखों की रोशनी जंक फूड (Junk Food) ने छीन ली. वह 10 साल से केवल चिप्स (Chips), बर्गर (Burger), फ्रेंच फ्राइज, सॉस के अलावा कभी-कभी हैम और व्हाइट ब्रेड ही खा रहा था.

हैरान करने वाली यह खबर ब्रिटेन से है. एक 17 वर्षीय लड़के की आंखों की रोशनी केवल जंक फूड (Junk Food) खाने से चली गई. इससे वह कुपोषण का शिकार हो गया और इस आदत ने उसे दृष्टिहीन और बधिर बना दिया.

यह भी पढ़ेंः आज ही फिट रहने का तरीका सीख लें वरना मार डालेंगे ये 3D

लड़के की मां ने डॉक्टरों को बताया कि जब वह सात साल का था तो वह सिर्फ जंक फूड (Junk Food) ही खाता था, उसने खाने की अन्य चीजों को खाना छोड़ दिया था. उसे फलों और सब्जियों का रंग-रूप पसंद नहीं था. ब्रिस्टल चिल्ड्रन हॉस्पिटल के डॉक्टरों का कहना है कि ब्रिटेन में इस तरह का यह पहला मामला है. फिलहाल इस किशोर को ब्रिस्टल आई हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है.

यह भी पढ़ेंः अगर आप भी करते हैं नाक में उंगली तो अभी छोड़ दें वर्ना.....

डॉक्टर डेनाइज एटन का कहना है कि इस लड़के के खान-पान में सिर्फ जंक फूड (Junk Food) वाले आहार ही शामिल थे. उसने कभी भी फल-सब्जी नहीं खाए. इसलिए चिप्स (Chips) और प्रिंगल्स ही उसका मुख्‍य भोजन था. इसके चलते उसको अवॉइडेंट- रिस्ट्रिक्टिव फूड इंटेक डिस्ऑर्डर हो गया. दरअसल इस बीमारी से पीड़ित मरीज एक खास रंग-रूप, गंध, स्वाद वाले खाने को बिल्कुल पसंद नहीं करते.

यह भी पढ़ेंः नमक का ये आसान प्रयोग कर देगा हर तरह के बुखार की छुट्टी

डॉ. एटन के मुताबिक, उसके शरीर में विटामिन बी12 बहुत कम हो गया था. यही नहीं मिनरल्‍स भी कम हो गए. उसके शरीर में कॉपर, सेलेनियम जैसे मिनरल्‍स की मात्रा भी कम हो गई. हालत यह हुई कि उसकी आंखों को मस्तिष्क से जोड़ने वाली नस को बहुत नुकसान पहुंचा.
यही नहीं जंक फूड (Junk Food) यानी प्रोसेस्ड खाने में शुगर और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होने से सुनने की क्षमता प्रभावित हुई और हड्डियां भी कमजोर हो गई हैं. वजन, कद और बीएमआई (22) सामान्य है.

First Published: Sep 06, 2019 08:49:36 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो