BREAKING NEWS
  • Today History: आज ही के दिन अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस को यूनेस्को ने स्वीकृति दी थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • 'कहीं बुरे तो कहीं अच्छे' काम के लिए पिटे पुलिसवाले, पढ़िए पूरी खबर- Read More »
  • Horoscope, 17 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 17 नवंबर का राशिफल- Read More »

छत्तीसगढ़ की रिसर्चर का दावा, कैंसर के इलाज के लिए ढूंढा नया फॉर्मूला

News State Bureau   |   Updated On : July 16, 2018 01:58:50 PM
ममता त्रिपाठी, महिला रिसर्चर  (फाइल फोटो)

ममता त्रिपाठी, महिला रिसर्चर (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक महिला रिसर्चर ने कैंसर का इलाज करने के नए फॉर्मूला ढूंढने का दावा किया है। ममता त्रिपाठी नाम की इस रिसर्चर का दावा है कि उनके फॉर्मूला से कैंसर के करीब 80 फीसदी सेल को खत्म किया जा सकता है।

त्रिपाठी ने कहा कि उनकी टीम ने लैब टेस्ट सफलतापूर्वक पूरे कर लिये है और अब अगला कदम इसका जीवित प्राणी पर परीक्षण करना है।

अपने फॉर्मूले के बारे में बात करते हुए त्रिपाठी ने कहा, 'शोध में 4.5-5 साल लगे। यह 70-80% कैंसर कोशिकाओं को मार सकता है। हमने एक प्रयोगशाला परीक्षण किया था जो सफल रहा था। अगला कदम चूहों की तरह छोटे जीवित परीक्षण पर परीक्षण करना है।'

युवा शोधकर्ता ने यह भी दावा किया कि यदि यह फॉर्मूला सफलता रहा तो दर्दनाक कीमोथेरेपी का संभावित विकल्प हो सकता है। जो वर्तमान में कैंसर के इलाज के लिए उपयोग किया जा रहा है।

त्रिपाठी ने कहा, 'यह प्रारंभिक चरण में है इसलिए यह अभी नहीं कह सकता है कि यह कीमोथेरेपी का विकल्प होगा। लेकिन, अगर हमारा शोध सही दिशा में चलता है तो यह एक सकारात्मक विकल्प हो सकता है। इसके अलावा, यह कीमोथेरेपी से बहुत कम दर्दनाक होगा।'

इसे भी पढ़ें: मानसून में इन 5 प्रोबायोटिक्स आहारों को खाने में जरूर करे शामिल

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जिसमें असामान्य कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से विभाजित होती हैं और शरीर के ऊतक को नष्ट करती हैं। वर्तमान में, कीमोथेरेपी कैंसर के लिए सबसे प्रभावी उपचार है।

इस उपचार में, डॉक्टर लक्षणों को कम करने के लिए मानकीकृत कीमोथेरेपी के हिस्से के रूप में एंटी-कैंसर दवाओं का उपयोग करते हैं। हालांकि, कीमोथेरेपी कई दुष्प्रभावों के साथ एक दर्दनाक उपचार है। यदि त्रिपाठी का सूत्र सफल होता है, तो यह घातक बीमारी के इलाज के लिए एक बड़ी सफलता होगी।

इसे भी पढ़ें: अल्जाइमर से जुड़ा है हर्पीस वायरस, ऐसे कम हो सकता है डिमेंशिया का खतरा

First Published: Jul 16, 2018 01:58:40 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो