हरियाणा सरकार ने मोचियों के लिए लाई अच्छी योजना, दुकान खोलने के लिए मिलेंगे बैंक लोन

हरियाणा सरकार एक नई योजना के तहत मोचियों को अपने दुकान स्थापित करने के लिए 15,000 रुपये तक का बैंक लोन उपलब्ध करवाएगी।

  |   Updated On : January 02, 2018 09:25 PM
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  दुकान स्थापित करने के लिए 15,000 रुपये तक का बैंक लोन
  •  डीआरआई स्कीम के तहत 4% ब्याज दर पर मिलेगा लोन

चंडीगढ़:  

हरियाणा सरकार एक नई योजना के तहत मोचियों को अपने दुकान स्थापित करने के लिए 15,000 रुपये तक का बैंक लोन उपलब्ध करवाएगी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने की अध्यक्षता में हुई एक बैठक के दौरान कई बैंक मोचियों को इस आर्थिक सहयोग के लिए कर्ज देने पर आश्वासन दिया है।

आधिकारिक रिलीज के मुताबिक, विभिन्न ब्याज दर (डीआरआई) योजना यानि वार्षिक 4% की दर पर निम्न आय वर्ग वाले समूह को दिए जाने लोन के तहत इन्हें यह सुविधा दी जाएगी।

मुख्यमंत्री खट्टर ने बैंकों को कहा कि डीआरआई योजना के तहत मोचियों को ज्यादा से ज्यादा सहायता दें ताकि ये भी मुख्यधारा में आ सकें।

इसके अलावा हरियाणा सरकार किसी भी संभावित घटना के तहत बैंक लोन नहीं चुका पाने की स्थिति में मुख्यमंत्री राहत कोष के जरिये लोन चुकाने में मदद करेगी।

मुख्यमंत्री ने बैंकों से कहा कि वे अपने लाभों को कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) के तहत अधिक से अधिक सामाजिक कार्यों में खर्च करें।

हाल ही में कुरुक्षेत्र से चंडीगढ़ लौटने के दौरान मुख्यमंत्री ने शाहाबाद शहर में एक मोची को काम करते देखा तो वे अपने विशेषाधिकार फंड से उसे 50,000 रुपये सहायता राशि प्रदान की।

साथ ही जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि उनके लिए एक दुकान खोला जाय और उनके दोनों पोतों के लिए शिक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करें।

और पढ़ें: पुणे: दलित की मौत के बाद तनाव बरकरार, मुंबई में 100 लोग हिरासत में

First Published: Tuesday, January 02, 2018 09:05 PM

RELATED TAG: Haryana, Manohar Lal Khattar, Dri Scheme, Dri, Bank Loan, Chandigarh, Cobblers,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो