BREAKING NEWS
  • विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप: भारत के प्रणॉय ने पूर्व ओलंपिक चैंपियन चीन के लिन डेन को हराया- Read More »
  • पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से भी झटका, जल्द सुनवाई से किया इनकार- Read More »
  • INX मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पी चिदंबरम - Read More »

सुषमा स्वराज ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, आडवाणी पितातुल्य, भाषा की मर्यादा रखें

News State Bureau  |   Updated On : April 06, 2019 05:25 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राहुल गांधी के बयान पर निशाना साधा है. सुषमा स्वराज ने राहुल को भाषा की मर्यादा रखने की सलाह दी है. बता दें कि राहुल गांधी ने बयान दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गुरू लाल कृष्ण आडवाणी को जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिया. इस बयान को आधार बनाकर सुषमा स्वराज ने इस बयान के आधार पर राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया है.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी बोले- मोदी ने अपने गुरू आडवाणी को स्टेज से उठाकर फेंक दिया और हिंदू धर्म की बात करते हैं

अपने ट्विटर अकाउंट पर सुषमा स्वराज ने शनिवार को हिंदी और अंग्रेजी में ट्वीट किया है. ट्वीट में उन्होंने राहुल गांधी को भाषा की मर्यादा रखने की सलाह दी है. उन्होंने लिखा है कि राहुल जी - अडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं. आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है. कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें.

बता दें कि शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी महाराष्ट्र के वर्धा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी पर जमकर वार किया था. नोटबंदी, राफेल से लेकर तमाम पुरानी बातों के जरिए पीएम मोदी को घेरा था. इस दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को लेकर भी मोदी को निशाने पर रखा. राहुल गांधी ने कहा था कि हिंदू धर्म में सबसे जरूरी गुरू-शिष्य का रिश्ता होता है. लालकृष्ण आडवाणी नरेंद्र मोदी के गुरू थे, लेकिन देखा उनके साथ क्या हुआ. मोदी जी ने उन्हें स्टेज से उठाकर फेंक दिया. गौरतलब है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने लाल कृष्ण आडवाणी को टिकट नहीं दिया है.

यह भी देखें: नरेंद्र मोदी ने अपने गुरु ( एल के आडवाणी ) का सम्मान नहीं किया - राहुल गांधी

काफी समय के बाद गुरुवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने अपने ब्लॉग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा था. आडवाणी ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि देश के लोकतंत्र का सार अभिव्यक्ति का सम्मान और इसकी विभिन्नता है. अपनी स्थापना के बाद से ही बीजेपी ने उन्हें कभी भी 'शत्रु' नहीं माना जो राजनीतिक रूप से हमारे विचारों से असहमत थे.

First Published: Saturday, April 06, 2019 01:09:37 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Sushma Swaraj, Rahul Gandhi, Bjp, Election, Loksabha, Lal Krishna Advani,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो