BREAKING NEWS
  • बरेली से जमशेदपुर तक खुलने लगे मोबाइल नशा मुक्ति केंद्र, अगर ये लक्षण आप में हैं तो हो जाएं सावधान- Read More »
  • रोहित तिवारी की हत्या के मामले में दायर आरोपपत्र पर संज्ञान- Read More »
  • मुंबई के बांद्रा में MTNL बिल्डिंग में लगी आग, 100 से ज्यादा लोग छत पर फंसे- Read More »

Selfie ले रही युवाओं की जान, अगर आप भी हैं Like, Comment और Share के दिवाने तो हो जाएं सावधान

News State Bureau  | Reported By : DRIGRAJ MADHESHIA |   Updated On : February 11, 2019 03:12 PM
30 या इससे कम आयु वाले लोगों की है और इनमें सेल्फी का क्रेज अधिक देखने को मिलता है.

30 या इससे कम आयु वाले लोगों की है और इनमें सेल्फी का क्रेज अधिक देखने को मिलता है.

नई दिल्‍ली:  

सेल्फी शब्द वैसे तो साल 2013 में आक्सफॉर्ड डिक्शनरी में अपनी जगह बना चुका है पर कहां से, कौन से देश से आया ये कहना बड़ा मुश्किल है. सेल्फी (Selfie) सिर्फ खुद से खींची गई एक तस्वीर ही नहीं बल्कि एक बीमारी है. यह बीमारी अब जान भी ले रही है. कैमरे के आगे आड़े-टेढ़े मुंह बनाए कभी रेलवे की पटरी पर तो कभी पानी के बीच चलती नाव पर, कभी मालगाड़ी के ऊपर तो कभी चलती ट्रेन की छत पर, कभी पहाड़ की चोटी पर तो कभी मंदिरों की सीढ़ियों पर. Selfie का यह शौक जानलेवा बन रहा है. ये सेल्फी ना जगह देखती है ना माहौल, ना पटरी पर दौड़ती ट्रेन देखती है ना नदी का फिसलता किनारा, बस बनाया मुंह और ले खचैक खचैक.

इंसान के हाथ में स्‍मार्ट फोन क्‍या आया वो समय से पहले ही स्मार्ट हो गया. आज की तारीख में हम लोगों में से अधिकतर लोग जो कुछ भी करते है वो सिर्फ like के पाने के लिए. पागलपन की हर हद तक सिर्फ सेल्फी. हम घूमने जाते हैं तो सेल्फी के लिए, किसी प्रोटेस्ट में जाते है तो भी सेल्फी के लिए, किसी के शोक का हिस्सा भी बनते है तो भी सिर्फ सेल्फी के लिए. बच्चे का स्कूल का पहला दिन हो या शादी का मंडप, सेल्फी के बिना सब अधूरा लगता है. लेकिन इस सेल्‍फी ने कई हादसों को जन्‍म दिया है. इसकी वजह से जाने कितनी मांओं की कोख सूनी हो गई.

सेल्‍फी के चक्‍कर में हुए बड़े हादसे

  • महाराष्ट्र के नागपुर का है जहां सेल्फी के चक्कर में 8 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. दरअसल ये लोग नागपुर की वेना झील में नाव से घूम रहे थे, जब वो नाव पर खड़े हो सेल्फी लेने लगे. नाव का संतुलन बिगड़ा और नाव पलट गई.
  • कुछ समय पहले आगरा में ताजमहल की सीढ़ियों पर सेल्फी लेने की कोशिश करते हुए एक जापानी नागरिक गिर पड़ा था, जिससे उसकी मौत हो गई. 
  • नागपुर के पास कुही तहसील में मंगरूल झील में सेल्फी लेने की कोशिश करते हुए दस छात्र डूब गए थे, जिनमें से बड़ी मुश्किल से तीन को ही बचाया जा सका.
  • महाराष्ट्र के एक युवक की मौत डेढ़ साल पहले तेज गति से आ रही ट्रेन के साथ सेल्फी लेने के चक्कर में ट्रेन से कटकर हो गई थी.

यह भी पढ़ेंः पति की गुहार! सेल्‍फी लेने में बीवी रहती है Busy, जज साहब ! मुझे तलाक दिलवा दो

  • राजकोट में सुरेन्द्र नगर से आए छात्रों का एक समूह पिकनिक पर सेल्फी लेते वक्त झील में गिर गया, जिसमें से एक युवक की मौत हो गई. 
  • हिमाचल के एक पर्यटन केंद्र पर पहाड़ की नुकीली चट्टान पर खड़े होकर फोटो खींचते हुए एक विद्यार्थी 60 फीट नीचे खाई में गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई.

कार्नेगी मेलॉन यूनिवर्सिटी और इन्द्रप्रस्थ इंस्टीटयूट आॅफ इंफारमेशन, दिल्ली की एक स्टडी के मुताबिक 2 सालों में सेल्फी से होने वाली मौतों में सबसे ज्यादा मौतें भारत में हुई हैं. अमेरिकन साइकेटरिक एसोसिएशन सेल्फी लेने की आदत को मानसिक डिसऑर्डर घोषित कर चुका है. संवेदना सोसाइटी आॅफ मेंटल हेल्थ के डॉ एस.त्यागी कहते हैं कि कोई भी चीज नॉर्मल से ज्यादा या अलग हो जाए तो वो अबनार्मल हो जाती है और सेल्फी उन्हीं चीजों में से एक है.

यह भी पढ़ेंः इस 'चप्‍पल सेल्‍फी' को आपने Like किया क्‍या, अमिताभ बच्‍चन भी फिदा हो गए इस तस्‍वीर पर

एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि सेल्फी की वजह से होने वाली मौतों के मामले में भारत दुनिया भर के देशों को पछाड़ कर टॉप पर है. इस रिसर्च में कहा गया है कि भारत में सेल्फी लेने की वजह से सबसे ज्यादा मौतें होती हैं. अमरीकी नैशनल लेबोरेटरी ऑफ मेडिसिन के द्वारा की गई इस स्टडी में सामने आया है कि भारत में अक्टूबर 2011 से नवंबर 2017 के बीच सेल्फी की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 159 है. इसमें 100 मौतें तो सिर्फ 2017 में ही हुई हैं. वहीं पूरे विश्व में सेल्फी के कारण मरने वालों की संख्या 259 है.

रूस और पाकिस्तान में कम है ये आंकड़ा

रिपोर्ट के मुताबिक, रूस अमरीका और भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान इस लिस्ट में काफी नीचे है. इन तीनों मुल्कों में सेल्फी की वजह से मरने वाले लोगों की संख्या भारत में आधी है. रूस में सेल्फी के कारण 16 लोगों की मौत हुई है वहीं अमरीका 14 और पाकिस्तान में 11 लोगों की मौत हुई है.

यह भी पढ़ेंः मालगाड़ी पर चढ़कर सेल्फी ले रहा था युवक, तभी मौत ने उसके संग ले ली Selfie

कुल मिलाकर हिंदुस्तान में पिछले दो साल में सेल्फी की वजह से हुई मौतों को देखें तो ये सामने आता है कि जितनी मौत हिंदुस्तान में सेल्फी की वजह से हुई है, उतनी देश के किसी भी देश में नहीं हुई है.

क्या है इन मौतों का कारण

ये भी एक बड़ा सवाल है कि आखिरी भारत में सेल्फी की वजह से इतनी मौतें क्यों हो रही हैं. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि पिछले कुछ समय में सेल्फी का क्रेज पूरी दुनिया में तो बढ़ा ही, लेकिन भारत में कुछ ज्यादा ही देखने को मिला है. इसके अलावा इन मौतों की वजह ये भी है कि यहां सबसे ज्यादा जनसंख्या 30 या इससे कम आयु वाले लोगों की है और इनमें सेल्फी का क्रेज अधिक देखने को मिलता है.

किस तरह हो जाती है सेल्फी लेते वक्त मौत

रिसर्च करने वालों ने पता लगाया है कि 159 सेल्फी से जुड़ी मौतें कई वजहों से हुई है. अक्सर किसी जानवर के साथ सेल्फी लेते वक्त, रेलवे ट्रैक पर सेल्फी लेते वक्त और ऊंचाई से सेल्फी वक्त लोग हादसे का शिकार हो जाते हैं. पिछले कुछ समय में तो सेल्फी की वजह से हुई मौतों के कई मामले सामने आए हैं. पहाड़ों में यात्रा के दौरान किसी एडवेंचर वाली जगह पर अक्सर सेल्फी की वजह से हादसे होने की खबरें सामने आती रही हैं.

 

First Published: Monday, February 11, 2019 03:12 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Side Effects Of Social Media, Divorce, Selfie, Facebook, Like, Comments,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो