BREAKING NEWS
  • LIVE: पीएम मोदी की अपील पर एकजुट हुआ देश, कोरोना के खिलाफ रात 9 बजे दीप जलाने को तैयार- Read More »

लोगों के लिए बड़ी खुशखबरीः केबल टीवी हुआ सस्ता; सिर्फ 130 रुपये में मिलेंगे इतने चैनल

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 06, 2019 07:22:35 PM
लोगों के लिए बड़ी खुशखबरीः केबल टीवी हुआ सस्ता; सिर्फ 130 रुपये में मिलेंगे इतने चैनल

टीवी (Photo Credit : (फाइल फोटो) )

नई दिल्ली:  

ऑल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन (AIDCF) ने मंथली टीवी बिल को घटाने के लिए बड़ा फैसला किया है. इसके अनुसार, अब ग्राहकों को 130 रुपये में 150 स्टैण्डर्ड चैनल प्रोवाइड कराए जाएंगे. टेलीविजन पोस्ट की खबर के मुताबिक, एआईडीसीएफ के प्रेसीडेंट एसएन शर्मा ने ट्राई के सचिव को इस बारे में लिखा है. जब से नया टैरिफ लागू हुआ है, तब से इस ऑर्डर की आलोचना हो रही थी.

यह भी पढ़ेंःRBI के बाद Paytm ने इस बैंक के ग्राहकों को दिया बड़ा झटका, बंद कर दीं ये सेवाएं

इस फैसले के बाद अब एआईडीसीएफ (AIDCF) के सदस्य टीवी केबल कस्टमर्स के 40 रुपये बचेंगे. अभी तक कस्टमर्स को 150 चैनल्स देखने के लिए 170 से ज्यादा रुपयों का भुगतान करना पड़ता था. अभी तक के नियम के हिसाब से डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफॉर्म ऑपरेटर्स को डीडी चैनल सहित 100 एसडी चैनल प्रोवाइड करना होता था.

अब तक सब्सक्राइबर्स को 100 चैनल देखने को मिलते थे. इससे ज्यादा चैनल देखने के लिए प्रति चैनल के हिसाब से उन्हें 20 रुपये देने पड़ते थे. इस हिसाब से देखा जाए तो 150 चैनल देखने को ग्राहकों को जीएसटी के साथ एनसीएफ चार्ज के तौर पर 170 रुपये का भुगतान करना पड़ता. हालांकि, फेडरेसन द्वारा किया गया ये बदलाव केबल टीवी सब्रक्राइबर्स के लिए ही लागू है डीटीएच सब्सक्राइबर्स को इस बदलाव का लाभ उठाने के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा.

यह भी पढ़ेंःBig Boss पर लगा अश्लीलता फैलाने का आरोप, केंद्रीय मंत्री को बैन करने के लिए लिखा पत्र

बता दें कि ट्राई यानी टेलिकॉम रेग्युलेटरी ऑथोरिटी ऑफ इंडिया ने इस साल डीटीएच और केबल नेटवर्क के लिए नए टैरिफ की घोषणा की थी. इसके बाद से सब्सक्राइबर्स का मंथली बिल पहले के मुकाबले ज्यादा हो गया है. नए टैरिफ नियमों को ट्राई ने सब्सक्राइबर्स के टीवी देखने के बिल को कम करने के लिए लागू किया था, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. बता दें कि AIDCF डिजिटल मल्टी सिस्टम ऑपरेटर के लिए शीर्ष संस्था है. इन सदस्यों की 80 फीसदी से ज्यादा मार्केट शेयर है.

First Published: Oct 06, 2019 07:13:20 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो